स्कूली पाठ्यक्रम में स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां जोड़ने के लिए पत्र

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 17 अप्रैल 2019, 11:09 AM (IST)

जयपुर। प्रदेश में स्कूली विद्यार्थियों को मौसमी बीमारियां होने के कारण, रोकथाम व अन्य स्वास्थ्य शिक्षा पाठ्यक्रम में शामिल कर समाज में जागरूकता विकसित की जायेगी। अपने शिक्षणकाल में स्वास्थ्य शिक्षा प्राप्त कर बच्चे समाज में उत्प्रेरक की भूमिका निभा पायेंगे।


अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य रोहित कुमार सिंह ने इसके लिए शिक्षा विभाग के प्रमुख शासन सचिव आर.वेंकटश्वरम को पत्र लिखकर इसकी उपयोगिता प्रतिपादित की है।
उन्होंने लिखा है कि राजस्थान देश के उन राज्यों की श्रेणी में हैै जहां मौसमी बीमारियां अधिक जनमानस को परेशान करती है। इसके लिए उन्होंने इस बात पर बल दिया है कि मौसमी बीमारियों के संक्रमण फैलाव व इनसे बचाव के लिए स्वास्थ्यकार्मिकों के साथ ही समुदाय का सहयोग आवश्यक है। समुदाय में ऐसी महत्वपूर्ण जानकारियां देकर हम मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, स्क्रब टाईफस जैसी मौसमी बीमारियों सहित खाद्य पदार्थों से संबंधित व जल व हवाजनित विभिन्न बीमारियों की रोकथाम भी कर सकते हैं।

इसी प्रकार किशोरियों को माहवारी व एनीमिया इत्यादि से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां यथासमय देकर भविष्य में उन्हें हो सकने वाली चुनौतीपूर्ण विभिन्न बीमारियों से बचाव किया जा सकता है। उन्होंने खाद्य पदार्थों में मिलावट को स्वास्थ्य के लिये हानिकारक बताते हुए बाजार में उपलब्ध खाद्य पदार्थों के सेवन से पूर्व इनकी शुद्धता जांचने संबंधी आवश्यक जानकारियों से भी विद्यार्थियों को अवगत करवाने पर बल दिया है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे