चुनाव प्रक्रिया में बेहत्तरीन कार्य करने वाले बीएलओ को किया जाएगा सम्मानित

www.khaskhabar.com | Published : शुक्रवार, 05 अप्रैल 2019, 7:18 PM (IST)

कैथल। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने कहा कि लोकसभा आम चुनाव 2019 की चुनावी प्रक्रिया में जो बीएलओ (बूथ लेवल ऑफिसर) बेहत्तरीन कार्य करेगा, उसे चुनाव परिणाम घोषित होने के 10 दिनों के अंदर प्रशासन द्वारा सम्मानित किया जाएगा। चुनाव के दौरान बीएलओ एक अहम जिम्मेदारी का निर्वहन करता है। बीएलओ घर-घर जाकर मतदाताओं को वोटर स्लीप, वोटर गाईड देने के साथ-साथ शत-प्रतिशत मतदान के लिए प्रेरित भी करेंगे।

डॉ. प्रियंका सोनी शुक्रवार को स्थानीय पंचायत भवन में गुहला और कलायत विधानसभा क्षेत्र के बीएलओ के एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में बोल रही थी। उन्होंने कहा कि 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुके पात्र नए मतदाताओं का रजिस्ट्रेशन, दिव्यांगों की वोट बनाना तथा शत-प्रतिशत मतदान करवाने वाले बीएलओ को प्रशासन द्वारा सम्मानित किया जाएगा। इसके साथ-साथ स्वीप गतिविधियों के तहत मतदाताओं को जागरूक करने की दिशा में अच्छे कार्य करने वाले व्यक्तों को भी जिला स्तरीय कार्यक्रम में सम्मानित किया जाएगा।

सभी बीएलओ मतदाताओं के घर-घर जाकर वोटर स्लीप खुद वितरित करेंगे। इसके साथ-साथ एक परिवार को वोटर गाईड भी वितरित करेंगे। चुनाव प्रक्रिया के दौरान बीएलओ भारत निर्वाचन आयोग के प्रतिबिंब के रूप में कार्य करते हुए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उन्होंने कहा कि 18 वर्ष की आयू पूर्ण करने वाले जिन पात्र व्यक्तियों की अभी तक वोट नही बनी है, उन सभी की वोट 12 अप्रैल तक बनवानी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव में जिन बूथों पर कम मतदान हुआ था, वहां लोगों को प्रेरित करके शत-प्रतिशत मतदान करवाया जाए।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि बीएलओ समाज में सामंजस्य स्थापित करके लोगों को मतदान के लिए जागरूक करें। दिव्यांग मतदाताओं के लिए इस बार विशेष प्रबंध किए जाएंगे। सभी दिव्यांग मतदाताओं को मतदान केंद्र तक लाने व घर छोड़ने तक की व्यवस्था प्रशासन द्वारा की जाएगी। इसके साथ-साथ दिव्यांग मतदाताओं के लिए बूथों पर वोलिंटियर्स भी नियुक्त किए जाएंगे, जो मतदान के दौरान उनकी मदद करेंगे। उन्होंने कहा कि दिव्यांगों की मदद के लिए सामाजिक संस्थाएं वोलिंटियर्स के रूप में भी कार्य कर सकती है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

उन्होंने निर्देश दिए कि जिन बूथों पर अधिक भीड़ हो जाती है तो मतदाताओं के लिए बैठने की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए तथा पानी, शौचालय व बिजली की सुचारू व्यवस्था भी हो। सभी बीएलओ अपने-अपने क्षेत्र में एएसडी यानि अनुपस्थित, स्थानांतरित तथा मृतक मतदाताओं की सूची तैयार करें। जितने भी दिव्यांग मतदाता व अन्य पात्र मतदाता के वोट बनाने हैं, इस कार्य में पूरी सावधानी से कार्य किया जाए।

उपायुक्त ने कहा कि लोकसभा आम चुनाव में पहली बार इस्तेमाल होने वाली वीवीपैट यानि वोटर वैरिफिएबल पेपर ऑडिट ट्रेल का इस्तेमाल होगा। वीवीपैट के माध्यम से मतदाताओं को अपना मतदान सही होने की पूष्टि मिलेगी, जोकि वीवीपैट पर 7 सैकेंड तक दिखाई देगी। सभी बीएलओ अपने-अपने बूथों पर जाकर तमाम व्यवस्था का जायजा लें। देश के महा त्यौहार लोकसभा आम चुनाव की घोषणा के साथ ही आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई थी, जिसकी पालना दृढ़ता से की जाए।

इस मौके पर गुहला व कलायत विधानसभा क्षेत्र के बीएलओ को ईवीएम मशीन के बारे में विस्तारपूर्वक मास्टर ट्रेनर द्वारा जानकारी दी गई। इस अवसर पर गुहला के सहायक रिटर्निंग अधिकारी एवं उपमंडलाधीश संजय कुमार, कलायत के सहायक रिटर्निंग अधिकारी एवं जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राजबीर खुंडिया, खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी सुमित चौधरी, चुनाव नायब तहसीलदार हीरा लाल, चुनाव कानूनगो शमशेर, रमेश, सुदेश आदि मौजूद रहे।