अर्धसैनिकों की सौ कंपनियां जम्मू-कश्मीर रवाना, मलिक को किया गिरफ्तार

www.khaskhabar.com | Published : शनिवार, 23 फ़रवरी 2019, 08:29 AM (IST)

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में अलगाववादी नेता यासीन मलिक को शुक्रवार देर रात गिरफ्तार कर लिया है। मलिक जम्मू कश्मीर लिब्रेशन फ्रंट का मुखिया है। घाटी में पुलिस एवं अर्धसैनिक बलों को हाई अलर्ट पर रखा है।

गृह मंत्रालय ने अर्धसैनिक बलों की 100 कंपनियों को जम्मू-कश्मीर रवाना किया है। यासीन मलिक की गिरफ्तारी इसलिए भी अहम मानी जा रही है क्योंकि सोमवार को जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाली संविधान की धारा 35-ए पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी।

श्रीनगर के माईसुमा में स्थित घर से यासीन मलिक को सुरक्षाबलों ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके बाद पूछताछ के लिए उसे कोठीबाग पुलिस स्टेशन ले जाया गया है, माना जा रहा है कि संविधान की धारा 35-ए पर सुनवाई से पहले एहतियातन प्रशासन ने यह कदम उठाया गया है। धारा 35-ए प्रावधान जम्मू कश्मीर के बाहर के व्यक्ति को इस राज्य में अचल संपत्ति खरीदने से प्रतिबंधित कर रखा है। संविधान की इस धारा को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने पर सोमवार को सुनवाई होगी।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे



इस दौरान जम्मू-कश्मीर में बड़े पैमाने पर अर्धसैनिक बलों को भेजे जाने की खबरें आई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, गृह मंत्रालय ने अद्र्धसैनिक बलों की 100 कंपनियों को घाटी भेजा गया है। इसमें सीआरपीएफ की 35, बीएसएफ की 35, एसएसबी की 10 और आईटीबीपी की 10 कंपनियां शामिल बतार्ह जा रही है।