‘आत्महत्या की वृत्ति को पहचानें और करें स्वयं का मूल्यांकन’

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 12 सितम्बर 2018, 5:31 PM (IST)

पंचकूला। स्वास्थ्य विभाग की ओर से पंचकूला के सेक्टर 19 के सरकारी स्कूल में विश्व आत्महत्या निवारण दिवस के उपलक्ष्य में हरियाणा मानसिक स्वास्थ्य एवं नशा मुक्ति कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
इस अवसर पर जिला अस्पताल से मनोचिकित्सक डॉ. मनोज ने शिरकत की। इस दौरान विशेषज्ञों ने विद्यार्थियों को बताया कि किस तरह किसी भी प्रकार की लत घातक होती है और उससे बीमारियां पनपती हैं। मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने वाले कारकों के बारे में विशेषज्ञों ने कहा कि पारिवारिक जिम्मेदारियां तनाव, भागदौड़, दोस्तों के बीच प्रतिस्पर्धा और सामंजस्य जैसी चीजें शामिल हैं।
इस दौरान उन्होंने जीवन में मानसिक परेशानियों को दूर करने के उपाय बताते हुए आत्महत्या की वृत्ति को पहचानने व समय-समय पर स्वयं का मूल्यांकन व मेडिटेशन के माध्यम से धैर्य शक्ति को बढ़ाने पर जानकारी दी। उन्होंने बताया कि छात्र-छात्राएं नियमित दिनचर्या, संतुलित खान-पान व जीवन शैली में बदलाव कर इस बीमारी से निजात पा सकते हैं। इस अवसर पर डॉ. मनोज, मनोचिकित्सक सिविल अस्पताल सैक्टर-6, पंचकुला के अलावा डॉ. अनुज बिशनोई, मेडिकल ऑफिसर, डॉ. पंकज पूरी मनोचिकित्सक ने भी सेमिनार को संबोधित किया।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे