विश्व विजेता फ्रांस टीम के कप्तान लोरिस ने इसलिए मांगी माफी

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 12 सितम्बर 2018, 12:25 PM (IST)

लंदन। इंग्लिश प्रीमियर लीग (ईपीएल) के फुटबॉल क्लब टोटेनहम हॉटस्पर और फ्रांस की राष्ट्रीय टीम के कप्तान हुगो लोरिस ने मंगलवार को नशे में गाड़ी चलाने की घटना के लिए माफी मांगी है। लोरिस ने स्वीकार किया कि उनसे गलती हुई है। इस मामले में उन्हें पिछले माह गिरफ्तार किया गया था।

आरएमसी स्पोर्ट को दिए बयान में लोरिस ने कहा कि हर इंसान की तरह मेरा भी निजी जीवन है। मैंने गलती की है और मुझे इसे स्वीकार करना है। लोरिस ने कहा कि मुझे अपने दिमाग में सबसे महत्वपूर्ण चीज पर अधिक ध्यान केंद्रित करना होगा और वह चीज है खेल का मैदान। मेरे पास मेरे परिवार और दोस्तों का समर्थन है। मैं अब भी फुटबॉल पिच पर अपने खेल का आनंद लेना और इसमें सुधार जारी रखना चाहता हूं।

लोरिस बुधवार को ड्रिंक एंड ड्राइव के आरोप के लिए वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश होंगे। 24 अगस्त को पुलिस ने विश्व कप विजेता फ्रांस के कप्तान को सेंट्रल लंदन में ड्रिंक एंड ड्राइव के आरोप में गिरफ्तार किया था। लोरिस अपने आर्सेनल टीम के साथी खिलाड़ी लॉरेंट कोशील्नी और ओलविएर गिरोड के साथ थे।

इस देश के मुख्य कोच ने दिया इस्तीफा

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

प्राग। चेक गणराज्य की राष्ट्रीय टीम के मुख्य कोच कारेल जारोलिम ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। जारोलिम ने अंतरराष्ट्रीय मैचों में टीम को लगातार मिल रही हार के कारण इस पद से इस्तीफा दिया। चेक गणराज्य फुटबॉल महासंघ ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी। चेक गणराज्य को सोमवार को रूस के खिलाफ खेले गए मैच में 5-1 से हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले, उसे यूक्रेन के खिलाफ नेशन्स लीग में खेले गए मैच में 2-1 से हार मिली थी।

जारोलिम ने कहा, मैं इस पद से हटने के लायक हूं। इस टीम को नई प्रेरणा की जरूरत है। बाकी सब चीजों की जानकारी जल्द ही मिल जाएगी। चेक गणराज्य की ओर से मंगलवार को जारी बयान में कहा गया कि जारोलिम आपसी सहमति से जा रहे हैं। उन्होंने टीम के खराब परिणामों को ध्यान में रखकर यह फैसला लिया। जारोलिम को अगस्त, 2016 में चेक गणराज्य की टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया था। उनकी टीम इस साल हुए फीफा विश्व कप टूर्नामेंट में भी क्वालीफाई नहीं कर पाई थी।

ये भी पढ़ें - शनाका ने गेंदबाजी नहीं बल्लेबाजी में किया कमाल, श्रीलंका जीता