गणेश चतुर्थी पर जयपुर में स्थानीय अवकाश, गणेश मंदिर में तैयारियां

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 12 सितम्बर 2018, 11:56 AM (IST)

जयपुर। जयपुर जिले में गणेश चतुर्थी पर स्थानीय अवकाश रहेगा। गुरुवार, 13 सितंबर को जिला कलेक्टर सिद्धार्थ महाजन ने अपने अधिकारों का उपयोग करते हुए अवकाश घोषित किया है।
कलेक्टर को राज्य सरकार ने साल में दो स्थानीय अवकाश करने के लिए अधिकृत किया हुआ है।

मोतीडूंगरी मंदिर में सिंजारा आज
मोती डूंगरी गणेशजी मंदिर में सिंजारा महोत्सव के तहत बुधवार शाम 7:00 बजे महाराज का विशेष शृंगार किया जाएगा। महंत परिवार विशेष रूप से , मोती, सोना, पन्ना व माणक के दर्शाए भाव नौलड़ी का नोलखा हार सहित पारंपरिक शृंगार धारण कराएगा। महाराज स्वर्ण मुकुट धारण करेंगे। यह पूरे साल में एक ही दिन सिंजारे को ही धारण कराया जाता है। भगवान चांदी के सिंहासन पर विराजमान होंगे। महंत पं. कैलाश शर्मा ने बताया कि महाराज को 3100 किलो मेंहदी धारण कराकर भक्तों को वितरित की जाएगी। मेहंदी वितरण रात 9:00 बजे तक मंदिर परिसर में पांच स्थान पर किया जाएगा। महिलाओं व कन्याओं के लिए अलग से पंक्ति होगी। डोरा बांधने की प्रथा भी इसी दिन होगी। भक्ति संध्या व जागरण होगा। शयन आरती रात 11:30 बजे होगी। गणेश चतुर्थी के दिन गुरुवार को मंगला आरती सुबह 4 बजे होगी। शहर अगले तीन दिन बुधवार से शुक्रवार तक गणेशजी के जन्मोत्सव में रमा रहेगा। इसी तरह परकोटे वाले गणेशजी का भी सिंजारा मनाया जाएगा। सुबह 31 हजार मोदकों का भोग लगाया जाएगा।

नहर के गणेशजी : सजेगी मोदकों की झांकी

ब्रह्मपुरी पावर हाऊस के पीछे, माउंट रोड स्थित नगर के अति प्राचीन व प्रसिद्ध दाहिनी सूंड वाले नहर के गणेशजी महाराज के मंदिर में सिंजारा महोत्सव के अंतर्गत असंख्य मोदकों की झांकी सजाई जाएगी। मंदिर महंत पं. जय शर्मा के सानिध्य में सुबह 6 बजे श्री गणपति को विशेष रूप से लहरिये की पोषाक व साफा धारण कराया जाएगा। असंख्य मोदकों की झांकी सजेगी। शाम 4 से 5 बजे के मध्य गणपति को केवड़ा जल युक्त सुगंधित मेहंदी अर्पण करवाई जाएगी। मंदिर में भक्तो को सुख समृद्धिदायक मेहंदी व नवीन चौले की सौभाग्यवर्धक सिंदूर वितरित की जाएगी। शाम 5ः30 से प्रेम भाया सत्संग मंडलक सिंजारा उत्सव मनाया जाएगा। कार्यक्रम देर रात्रि तक युगलजी महाराज के भजनों के साथ चलेगा।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे