पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले के लिए ऐसा बोले भारतीय कोच

www.khaskhabar.com | Published : मंगलवार, 11 सितम्बर 2018, 11:46 AM (IST)

ढाका। फुटबॉल के सैफ सुजुकी कप के सेमीफाइनल में पाकिस्तान का मुकाबला करने से पहले भारतीय फुटबॉल टीम के कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने कहा कि यह मैच किसी अन्य मैच की तरह ही है। मौजूदा चैंपियन भारत ने रविवार को खेले गए ग्रुप स्तर के दूसरे मुकाबले में मालदीव को 2-0 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया। टूर्नामेंट के पहले मैच में भारत ने श्रीलंका को भी इतने ही अंतर से मात दी थी।

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने कांस्टेनटाइन के हवाले से बताया कि हमें पता है कि मुकाबला कड़ा होगा लेकिन यह कुछ अलग नहीं है। हम इस मौके को अपने ऊपर हावी नहीं होने दे सकते और मुझे उम्मीद है कि हम यह मैच जीतकर फाइनल में प्रवेश करने में कामयाब हो पाएंगे। इससे पहले, काठमांडू में सितम्बर 2013 में भारत ने पाकिस्तान का मुकाबला किया था।

उस मुकाबले में भारत ने 1-0 से जीत दर्ज की थी। कांस्टेनटाइन ने सेमीफाइनल में जगह बनाने पर नेपाल की भी तारीफ की। कांस्टनेटाइन ने कहा कि नेपाल ने बेहतरीन फुटबॉल खेली है और वे सेमीफाइनल में पहुंचने के हकदार हैं। उम्मीद है कि हम पाकिस्तान से जीतेंगे और आशा है कि फाइनल में नेपाल का सामना करेंगे।

‘फ्रांस के खिलाफ मैच में हमने अवसर बनाए थे’


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

नई दिल्ली। फ्रांस की अंडर-19 विश्व चैम्पियंस की युवा टीम के खिलाफ मिली हार के बाद भारत की अंडर-19 टीम के मुख्य कोच फ्लोएड पिंटो ने कहा कि उनकी टीम ने फ्रांस के खिलाफ अवसर हासिल किए थे। पिंटो ने कहा कि वे चार देशों के टूर्नामेंट में अपनी टीम के प्रदर्शन से खुश हैं और ऐसे कड़े प्रतिस्पर्धियों के खिलाफ मैच टीम के विकास में मददगार है। उल्लेखनीय है कि चार देशों के टूर्नामेंट में भारत की अंडर-19 टीम को फ्रांस के खिलाफ खेले गए मैच में 0-2 से हार का सामना करना पड़ा।

मैच के बाद कोच पिंटो ने कहा कि इस मैच में अधिकतर समय तक मेरी टीम के खिलाडिय़ों ने प्रतिद्वंद्वी टीम को कड़ी प्रतिस्पर्धा दी। फ्रांस की इस टीम में शामिल कुछ खिलाड़ी फ्रेंच लीग-1 और उच्च स्तरीय अकादमियों के लिए खेल चुके हैं। हमारे खिलाडिय़ों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। उन्होंने साबित किया कि वे अपनी प्रतिद्वंद्वी टीम के खिलाडिय़ों जितनी ही काबिलियत रखते हैं।

पिंटो ने कहा, यहां तक कि इस मैच में हमने अपने अवसर बनाए थे। अनिकेत की ओर से 25 यार्ड से किया गया गोल सफल हो सकता था। ऐसे मैचों में हमारा डिफेंस सबसे अधिक मायने रखता है। फ्रांस की ओर से किए गए दो गोल हमारी ओर से की गई छोटी-छोटी गलतियों का कारण थे। हमें इन गलतियों पर काम करना होगा।

ये भी पढ़ें - शनाका ने गेंदबाजी नहीं बल्लेबाजी में किया कमाल, श्रीलंका जीता