‘खेत से लेकर मंडी तक किसानों की खुशहाली के लिए किया है काम’

www.khaskhabar.com | Published : शनिवार, 08 सितम्बर 2018, 6:11 PM (IST)

श्रीगंगानगर/सादुलशहर/जयपुर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि हमारे किसान भाई अपनी मेहनत से प्रदेश का नाम पूरे देश में रोशन कर रहे हैं। उनकी खुशहाली हमारी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने खेत से लेकर मंडी तक किसानों को राहत देने में कोई कसर नहीं छोड़ी। राजे शनिवार को श्रीगंगानगर के सादुलशहर एवं लालगढ़ जाटान में आमसभा को संबोधित कर रही थीं।

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने नहरी तंत्र को सुदृढ़ कर टेल क्षेत्र तक के खेत तक पानी पहुंचाने का प्रयास किया। सरकार के प्रयासों से आईजीएनपी तथा गंगनहर क्षेत्र में 2 लाख 30 हजार हैक्टेयर से अधिक भूमि पर सिंचाई की सुविधा बढ़ी है।

सिंचाई की सुविधा में बढ़ोतरी
मुख्यमंत्री ने कहा कि 200 करोड़ रुपए की लागत से गंगनहर में कैनाल लाइनिंग का काम पूरा होने के बाद से 91 हजार 510 हैक्टेयर भूमि में अतिरिक्त सिंचाई की सुविधा बढ़ी है। इसी प्रकार 290 करोड़ रुपए की लागत से इस क्षेत्र में 467 पक्के खालों के निर्माण से 1 लाख 18 हजार हैक्टेयर से अधिक भूमि को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि 51 करोड़ रुपए की लागत से भांखड़ा नांगल परियोजना में 86 पक्के खालों के निर्माण से 25 हजार 943 हैक्टेयर भूमि को लाभ मिला है। इसके अलावा भी बीएडीपी, एमजेएसए तथा मनरेगा में भी पक्के खालों के निर्माण से 5 हजार हैक्टेयर भूमि को लाभ मिला है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीगंगानगर जिले के सूरतगढ़ से ही सॉयल हेल्थ कार्ड की जो योजना शुरू की, वह आज किसानों के लिए वरदान बन गई है। इस योजना से श्रीगंगानगर में करीब 3 लाख किसानों को लाभ मिला है। उन्होंने कहा कि पहले 50 प्रतिशत फसल खराबे पर ही किसानों को मुआवजा मिलता था। हमारी मांग पर केन्द्र सरकार ने पूरे देश में अब 33 प्रतिशत खराबे पर मुआवजे का प्रावधान किया है। इसका लाभ प्रदेश के लाखों किसानों को मिला।

किसानों का ऋण माफ किया, नहीं बढ़ाई बिजली की दरें



ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

राजे ने कहा कि हमने किसानों के लिए बिजली की दरें नहीं बढ़ाई और बिजली के पेटे 33 हजार करोड़ रुपए की सब्सिडी दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पहली बार 30 लाख किसानों को राहत देते हुए 9 हजार करोड़ रुपए का कर्जा माफ किया गया।


ये भी पढ़ें - खौफ में गांव के लोग, भूले नहीं करते ये काम

सादुलशहर विधानसभा क्षेत्र में 50 करोड़ सहित पूरे श्रीगंगानगर जिले में 370 करोड़ रुपए का कृषि ऋण माफ किया गया है। इस साल के अंत तक किसानों को सहकारी बैंकों के माध्यम से 80 हजार करोड़ रुपए तक का कृषि ऋण उपलब्ध करा दिया जाएगा।
130 जनता जल योजनाओं के लिए राशि स्वीकृत

ये भी पढ़ें - खौफ में गांव के लोग, भूले नहीं करते ये काम

मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रीगंगानगर में 90 जनता जल योजनाएं पुनः शुरू करवा कर पंचायतों को सौंप दी हैं। बाकी बची 130 जनता जल योजनाएं शुरू करने के लिए राशि स्वीकृत कर दी गई है। उन्होंने कहा कि ततासर गांव में 3 करोड़ 30 लाख रुपए की लागत से पेयजल योजना से पांच गांवों को लाभ मिलेगा।

ये भी पढ़ें - खौफ में गांव के लोग, भूले नहीं करते ये काम

राजे ने कहा कि श्रीगंगानगर शहर में सड़कों के विकास के लिए 20 करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत की गई है। उन्होंने निर्देश दिए कि इस राशि से होने वाले विकास कार्य समय पर पूरे करवाए जाएं। शहर के विकास के लिए किसी भी प्रकार से पैसे की कोई कमी नहीं है तथा जरूरत होने पर और राशि स्वीकृत की जाएगी।


ये भी पढ़ें - यहां मुस्लिम है देवी मां का पुजारी, मां की अप्रसन्नता पर पानी हो जाता है लाल

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थानीय खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिए लालगढ़ जाटान में जल्द ही हैंडबॉल एकेडमी खोली जाएगी। इससे यहां के हैंडबॉल खिलाड़ियों को आगे बढ़ने के अवसर मिलेंगे और नए खिलाड़ी तैयार होंगे। इससे पहले मुख्यमंत्री ने श्रीगंगानगर में दिव्यांग बच्चों से मुलाकात की। वे बच्चों और उनके परिजनों से आत्मीयता से मिलीं।

ये भी पढ़ें - यहां मुस्लिम है देवी मां का पुजारी, मां की अप्रसन्नता पर पानी हो जाता है लाल

इस अवसर पर नगरीय विकास मंत्री श्रीचंद कृपलानी, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बाबूलाल वर्मा, खान राज्य मंत्री सुरेन्द्र पाल सिंह, पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री धनसिंह रावत, सांसद निहाल चंद, विधायक अशोक परनामी, गुरजंट सिंह, अभिषेक मटोरिया तथा राज्य जन अभाव अभियोग निराकरण समिति अध्यक्ष श्रीकृष्ण पाटीदार सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।
आगे तस्वीरों में देखें...

ये भी पढ़ें - यहां मुस्लिम है देवी मां का पुजारी, मां की अप्रसन्नता पर पानी हो जाता है लाल


आगे तस्वीरों में देखें...


ये भी पढ़ें - खौफ में गांव के लोग, भूले नहीं करते ये काम


आगे तस्वीरों में देखें...


ये भी पढ़ें - खौफ में गांव के लोग, भूले नहीं करते ये काम


आगे तस्वीरों में देखें...


ये भी पढ़ें - खौफ में गांव के लोग, भूले नहीं करते ये काम


आगे तस्वीरों में देखें...


ये भी पढ़ें - खौफ में गांव के लोग, भूले नहीं करते ये काम


आगे तस्वीरों में देखें...


ये भी पढ़ें - खौफ में गांव के लोग, भूले नहीं करते ये काम


आगे तस्वीरों में देखें...


ये भी पढ़ें - यहां मुस्लिम है देवी मां का पुजारी, मां की अप्रसन्नता पर पानी हो जाता है लाल


आगे तस्वीरों में देखें...


ये भी पढ़ें - यहां मुस्लिम है देवी मां का पुजारी, मां की अप्रसन्नता पर पानी हो जाता है लाल




ये भी पढ़ें - खौफ में गांव के लोग, भूले नहीं करते ये काम