एशिया के टॉप 24 हेरिटेज होटलों में शामिल हुआ जयपुर का यह पैलेस... नाम यहां देखें...

www.khaskhabar.com | Published : शुक्रवार, 07 सितम्बर 2018, 4:06 PM (IST)

जयपुर। जयपुर के होटल रामबाग पैलेस को सीएनएन की ‘अल्टीमेट गाइड टू एशियाज हेरिटेज होटल्स’ द्वारा टॉप 24 ‘मोस्ट ब्यूटीफुल हेरिटेज होटल्स इन एशिया’ सूची में शामिल किया गया है। इस सूची में एशिया के सबसे खूबसूरत 24 स्थानों का आंकलन किया गया है, जिनमें सिंगापुर, मलेशिया, वियतनाम, नेपाल, थाईलैंड, श्रीलंका जैसे देशों के हेरिटेज होटल शामिल हैं।
रामबाग पैलेस के जनरल मैनेजर अशोक एस. राठौड़ ने कहा कि ‘एशिया के सबसे खूबसूरत हेरिटेज होटलों की सूची में हमारे होटल का शामिल होना गौरव की बात है। रामबाग पैलेस द्वारा अपने गेस्ट्स को राजस्थानी संस्कृति के साथ-साथ पारम्परिक भारतीय मेहमानवाजी का अनूठा अनुभव प्रदान किया जाता है।
उल्लेखनीय है कि इस सूची में भारत से सिर्फ रामबाग पैलेस, जयपुर और उम्मेद भवन, जोधपुर ही वे हेरिटेज होटल हैं जिन्हें इसमें शामिल किया गया है। रामबाग महल जयपुर में एक लिविंग लिजेंड है।



ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

गौरतलब है कि मूल रूप से वर्ष 1835 में निर्मित रामबाग पैलेस, जयपुर में विभिन्न शासकों द्वारा विभिन्न कालखंड में अनेक खूबसूरत बदलाव किए गए हैं।


ये भी पढ़ें - यहां मुस्लिम है देवी मां का पुजारी, मां की अप्रसन्नता पर पानी हो जाता है लाल

राजपूत आतिथ्य की बेहतरीन परम्परा के साथ रामबाग पैलेस अपने मेहमानों को शाही जीवन एवं लग्जरी का अनुभव प्रदान करता है, जिन पर किसी जमाने में मात्र राजाओं का एकाधिकार था।


ये भी पढ़ें - यहां मुस्लिम है देवी मां का पुजारी, मां की अप्रसन्नता पर पानी हो जाता है लाल

इसके अत्यंत खूबसूरत कमरे, संगमरमर के गलियारे और राजसी उद्यान इतिहास से भरपूर हैं।

आगे तस्वीरों में देखें...


ये भी पढ़ें - यहां मुस्लिम है देवी मां का पुजारी, मां की अप्रसन्नता पर पानी हो जाता है लाल



आगे तस्वीरों में देखें...

ये भी पढ़ें - यहां मुस्लिम है देवी मां का पुजारी, मां की अप्रसन्नता पर पानी हो जाता है लाल



आगे तस्वीरों में देखें...

यह भी पढ़े : यहां कब्र से आती है आवाज, ‘जिंदा हूं बाहर निकालो’




आगे तस्वीरों में देखें...

यह भी पढ़े : इस लडकी का हर कोई हुआ दीवाना, जानें...





यह भी पढ़े : खौफ में गांव के लोग, भूले नहीं करते ये काम