बीएसएफ के डीजी बोले, ममता बनर्जी रोहिंग्याओं को बसा रही है बंगाल में

www.khaskhabar.com | Published : शुक्रवार, 07 सितम्बर 2018, 2:42 PM (IST)

नई दिल्ली। बीएसएफ के डीजी के.के. शर्मा ने कहा है कि बॉर्डर से आने वाले रोहिंग्याओं को बीएसएफ ने बिलकुल रोक लगा दी है। उन्होंने बताया कि चिंता का कारण वे हैं जो रोहिंग्या भारत की सीमा में आ गए हैं। रोहिंग्या मुस्लिमानों के भारत में आने को लेकर देश में कई बार प्रदर्शन हो चुके हैं कुछ उनके आने के पक्ष में कुछ उनके नहीं आने केे पक्ष में हैं। इसी बीच डीजी शर्मा ने यह भी बताया कि भारत में मौजूद रोहिंग्याओं को राज्यों में बसने से नहीं रोक ने में असमर्थ हैं। उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल की सरकार रोहिंग्याओं के साथ मित्र व्यवहार कर रही हैं, वहां पर उन्हें कैंप में बसाकर भोजन की व्यवस्था कर रही है।

रोहिंग्याओं पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का कहना है कि केंद्र सरकार ने हमें बताया है कि रोहिंग्या मुस्लिम शरणार्थियों के बीच आतंकवादी मौजूद हैं, लेकिन मैं नहीं मानताी। प्रेस को सम्बोधित करते हुए डीजी बीएसएफ ने कहा कि बांग्लादेश बॉर्डर से भारत आने वाले जाली नोटों में भी अब भारी गिरावट दर्ज की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस साल भारत-बांग्लादेश सीमा पर मात्र 11 लाख के जाली नोट जब्त किए गए हैं जो कि पिछले सालों की अपेक्षा काफी कम है। जाली नोटों की तस्करी को रोकने के लिए बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश के शफीनुल इस्लाम ने बताया कि बांग्लादेश सरकार ने डिटेक्टिंग मशीन लगाई है, चौकसी भी बढ़ाई है जिसके चलते जाली नोटों की तस्करी रोकने में बडी कामयाब हो गए है।

उल्लेख है कि केंद्र सरकार भारत में मौजूद करीब 40,000 रोहिंग्याओं को वापस भेजने की योजना बना रही है। पिछले वर्ष से ही रोहिंग्याओं के विषय पर केंद्र सरकार और पश्चिम बंगाल की सरकार के बीच विवाद बना हुआ है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे