रिव्यू : चीन पर भारी पड़ी भारतीय सेना की ‘पलटन’

www.khaskhabar.com | Published : शुक्रवार, 07 सितम्बर 2018, 1:15 PM (IST)

कलाकार : जैकी श्राफ, सोनू सूद, सोनल चौहान, सिद्धांत कपूर, मेनिका गिल, दीपिका कक्कड़, अर्जुन रामपाल, हर्षवर्धन राणे, लव सिन्हा और गुरमीत चौधरी।
निर्देशक : जे पी दत्ता।
बॉलीवुड फिल्म ‘पलटन’ आज सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। यह फिल्म एक वॉर ड्रामा फिल्म है। फिल्म निर्माता जेपी दत्ता 12 साल बाद ‘पलटन’ के साथ निर्देशन की दुनिया में वापसी की है।

जेपी दत्ता इससे पहले ‘बॉर्डर’, ‘एलओसी कारगिल’ और ‘रिफ्यूजी’ जैसी युद्ध पर आधारित फिल्मों के साथ दर्शकों का मनोरंजन कर चुके है।

जेपी दत्ता की फिल्म पलटन भारत-चीन के बीच हुए टकराव पर आधारित है। ‘पलटन’ में चीनी घुसपैठ को रोकने के लिए भीषण लड़ाई का सामना कर रहे भारतीय सेनाओं की एक अनकही कहानी दिखाई गई हैं।

फिल्म की कहानी...

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

फिल्म की कहानी...
यह फिल्म साल 1962 की इंडो-चाइना वॉर पर आधारित है। फिल्म पल्टन सिक्किम सीमा के साथ हुए साल 1967 के नाथू ला और चो ला सैन्य संघर्षों पर कैसे चीन ने भारतीय सेना पर हमला किया था। चीन ने ऐसा इसलिए किया था क्योंकि भारतीय सेना उस समय नाथू ला से सेबू ला (सिक्किम) तक फेंसिंग कर रही थी और चीन की सेना ये नहीं चाहती थी।

फिल्म के जरिए बताया गया है कि चीन पर 62 की जंग जीतने का घमंड था और उसी जीत का दंभ भरते हुए चीनी सेना ने आक्रमण कर दिया।

अचानक हुए इस हमले से भारतीय सेना स्तब्ध थी और इस कारण शुरू में कई सैनिक शहीद हो गए। लेकिन तुरंत भारतीय सेना ने अपने को संभाला और जवाबी कार्रवाई की। भारतीय सेना द्वारा इस कार्रवाई से चीन के हौसले पस्त हो गए और उन्होंने सीजफायर का ऐलान कर दिया।

क्यों देखे...

क्यों देखे...
फिल्म में सेना के जवानों को प्रमुखता से दिखाया गया है। पलटन फिल्म के जरिए बताया गया है कि नाथु ला पास पर हुई यह घटना एक छोटी झड़प से शुरू हुई थी लेकिन यही झड़प बड़ी बन गई। इस बार भारतीय सेना सिक्किम को बचाने के लिए चीनी सेना से भिड़ जाती है।

फिल्म के जरिए बताया गया है कि इस युद्ध में भारत ने 62 के युद्ध में अपने 1383 जवान खो दिए थे, 1047 जवान घायल और 1696 लापता हो गए थे।

अभिनय...

अभिनय...
फिल्म ‘पलटन’ साल 1967 में भारत-चीन के बीच हुए टकराव पर आधारित है। ‘पलटन’ में चीनी घुसपैठ को रोकने के लिए भीषण लड़ाई का सामना कर रहे भारतीय सेनाओं की एक अनकही कहानी दिखाई गई हैं।

अभिनय की बात करें तो सभी एक्टर्स उन जवानों के किरदार में फिट बैठे हैं। पलटन में अर्जुन रामपाल ने लेफ्टिनेंट कर्नल राय सिंह के किरदार में और सोनू सूद मेजर बिशन सिंह का किरदार अच्छे से निभाया है। फिल्म में हर्षवर्धन राणे और गुरमीत चौधरी ने भी अच्छा काम किया हैं। फिल्म के बाकि के एक्टर्स ने भी अपने किरदारों के साथ न्याय किया है।

वहीं फिल्म की शूटिंग रियल लोकेशन पर हुई है जिसे देखकर लगता है आप सच में 1965 के समय में है।