भगवान पर चढ़े फूलों का ना करें अनादर, जानिए क्या होंगे नुकसान!

www.khaskhabar.com | Published : रविवार, 02 सितम्बर 2018, 12:28 PM (IST)

अक्सर देखा जाता है कि लोग घर और मंदिर में फूल और हार भगवान को चढ़ाते हैं। मंदिर और घरों में भगवान को चढ़ाए गए फूल जब सूख जाते हैं तो सभी उन्हें अहमियत न देते हुए कचरे में फेंक देते हैं जो कि ऐसा नहीं करना चाहिए।

भगवान पर चढ़े फूल कचरे में फेकने पर आप पाप के भागीदार बन सकते हैं। हम सभी इस बात से अवगत नहीं होते हैं कि भगवान पर चढ़ाकर उतारे गए फूलों को निर्माल्य कहा जाता है। ये बहुत पवित्र होते हैं क्योंकि इन पर भगवान की मूर्ति के आसपास मौजूद सकारात्मक एनर्जी भी मौजूद होती है। ऐसे में इन्हें कचरे में फेंका जाना या इन पर पैर लगना शुभ नहीं माना जाता है।

इससे घर में दरिद्रता आती है। इन्हें किसी खाली डिब्बे या थैली में संभालकर रखें। जब इक्कठा हो जाएं तो इन्हें किसी पेड़ की जड़ में डाल देना चाहिए।

इनका उपयोग ऐसी जगह करना चाहिए जहां ज्यादा गंदगी ना हो। भगवान पर चढ़ाए गए फूलों से क्या फायदा होता है, आइए जानते है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

शास्त्रों में कहा गया है कि जब भी भगवान पर चढ़े फूल हटाने हों तो उन्हें एक बार सूंघ लेना चाहिए। इससे उसकी पॉजिटिव एनर्जी हमेशा आप के साथ हो जाती है।

भगवान को चढ़ाने वाले फूल चढ़ाने से पहले सूंघना नहीं चाहिए।

ये भी पढ़ें - दरिद्रता करनी है दूर तो अपनाएं ये उपाय...

भगवान को अगर रोज फूल चढ़ाते हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि सुबह पूजन के बाद चढ़ाए गए

फूल शाम को दीपक लगाने से पहले हटा देने चाहिए।

ये भी पढ़ें - ऐसा भोजन करने से होंगे सभी ग्रह अनुकूल, मिलने लगेगी दौलत

हमेशा ताजा फूल चढ़ाने चाहिए। फ्रिज आदि में रखे फूल नहीं चढ़ाने चाहिए।

फूलों को या तो नदी या तालाब में प्रवाहित कर दें या फिर उन्हें खाद के रुप में उपयोग कर लें।

भगवान से उतरे फूल जमीन पर नहीं रखने चाहिए।

ये भी पढ़ें - हर हिंदू को सूतक और पातक के नियम जानने हैं बेहद जरूरी