रक्षाबंधन पर बहन बताकर जेल पहुंची पत्नियां, पतियों की इन हरकतों ने खोली पोल

www.khaskhabar.com | Published : मंगलवार, 28 अगस्त 2018, 6:06 PM (IST)

नई दिल्ली। पिछले रविवार को रक्षाबंधन त्यौहार पूरे देश में धूमधाम से मनाया गया। रक्षाबंधन पर देश भर में जहां कई तरह की अच्छी खबरें सामने आईं तो वहीं एक अजीबोगरीब मामला भी सामने आया है। आप तो जानते है कि रक्षाबंधन एक ऐसा त्यौहार है जहां बहिनें जेल में बंद अपने भाई से मिलने जाती है और उन्हें राखी बांधती है। लेकिन इस बार राखी पर एक महिला ने कुछ ऐसा किया जिससे देख वहां पर मौजूद पुलिसवाले हैरान रह गए।

दरअसल, ग्रेटर नोएडा के लुक्सर स्थित गौतमबुद्ध नगर जिले में स्थित जेल में रक्षाबंधन के त्यौहार का असली फायदा तो उन महिलाओं ने उठाया है, जिनके पति पिछले काफी समय से जेल में बंद हैं।

जी हां, यहां की जेल में कुछ पत्नियां रक्षाबंधन के मौके पर अपने को बहन बताकर अपने पतियों से मिलने पहुंची थीं। लेकिन यह बात ज्यादा देर तक छिप नहीं सकी, क्योंकि पत्नियों से मिलने के लिए बेताब बैठे पतियों ने अपनी पत्नियों को देखते ही काबू खो दिया और उन्हें अपनी बाहों में भर लिया। जिसके बाद इस मामले की पोल खुल गई।

इसके बाद ऐसी महिलाओं को तुरंत बाहर निकाल दिया गया। वहीं कई अन्य महिलाएं, जो वास्तव में अपने भाइयों को राखी बांधने आईं थीं, जेल प्रशासन ने उन्हें उनके भाइयों से मिलवाया।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

दरअसल, हर बार की तरह इस बार भी जेल में रविवार को रक्षाबंधन के मौके पर बंदियों से उनकी बहनों की मुलाकात करवाने प्रबंध किया गया था लेकिन इस बार जालियों के बजाए खुले पार्क में उनके मिलने का बंदोबस्त किया गया था। वहीं इस दौरान सुरक्षा के लिए पार्क में 51 पुलिसकर्मी भी अतिरिक्त तैनात किए गए थे।

जिसके बाद 2 हजार से ज्यादा बहनें भाइयों को राखियां बांधने पहुंची थीं, जिसमें 100 मुस्लिम महिलाएं भी थीं। वहीं इनके बीच कई ऐसी महिलाएं भी थीं, जो अपने पतियों से मिलने के लिए खुद को उनकी बहन बताकर आईं थीं। वहीं जब वह एक दूसरे से मिले तो खुद को रोक नहीं सके और एक दूसरे को बांहों में भर लिया और पोल खुल गई। इस हरकत के बाद उन महिलाओं को वहां से बाहर निकाल दिया गया।

ये भी पढ़ें - इस मंदिर में प्रवेश करने से डरते है लोग, जानें क्यों!