मंदिर में नंगे पैर जाने से होता है ऐसा, जानिए-और भी क्या-क्या हैं फायदे

www.khaskhabar.com | Published : शनिवार, 25 अगस्त 2018, 4:29 PM (IST)

दुनिया में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं जो मंदिर न जाता हो। कभी ना कभी, किसी रोज हर कोई मंदिर जाता ही है। हिंदू धर्म के मुताबिक, मंदिर जाने से मन को शांति मिलती है इसके अलावा मंदिर जाने के बहुत फायदे होते है। बहुत से लोग भगवान से मिलने जाते है। कुछ भक्ति में शक्ति खोजते हैं तो कोई आस्था का रास्ता। देश में सदियो से मंदिर जाकर भगवान के दर्शन करने की परंपरा चली आ रही है, जो आज तक लोग उसे निभा रहें है।

शास्त्र व विज्ञान के मुताबिक, मंदिर में जाना धार्मिक कारण तो है ही लेकिन साथ ही साथ इसका साइंटिफिटक कारण भी बनता है जिसके बारे में शायद आप नहीं जानते होंगे। जी हां, मंदिर जाने के अदभुत फायदे होते है। आइए जानते है।

दिमाग होता है एकाग्र...

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

दिमाग होता है एकाग्र...
जब हम मंदिर जाते हैं तो वहां पर भगवान की प्रतिमा के दर्शन करते हैं जिससे हमारा दिमाग कुछ समय के लिए एकाग्र की अवस्था में हो जाता है। और हमारे दिमाग के खास हिस्से पर दवाब पड़ता है। इससे व्यक्ति का कॉन्सेंट्रेशन निरंतर बढ़ता रहता है।

मंदिर में लगे घंटे की आवज...

ये भी पढ़ें - कब होगा आपका भाग्योदय, बताएंगे आपके मूलांक

मंदिर में लगे घंटे की आवज...
मंदिर में भगवान के दर्शन के दौरान हम वहां पर लगे घंटे और घडियाल भी बजाते हैं जिसकी आवाज कुछ समय के लिए हमारे कानों में गूंजती रहती है। इस आवाज से हमारे शरीर के कुछ अंग एक्टिव हो जाते हैं जिससे ऊर्जा लेवल बढ़ जाती है।

भगवान की आरती...

ये भी पढ़ें - शादी में हो रही देरी, आजमाएं ये 6 कारगर उपाय

भगवान की आरती...
मंदिर में भगवान की आरती का धार्मिक महत्व के साथ वैज्ञानिक महत्व भी होता है। आरती से दिमाग अच्छे ढंग से काम करने लगता है और तनाव दूर होता है।

मंदिर में ताली बजाना...

ये भी पढ़ें - कैसे पहचानें कि नजर लगी है ?

मंदिर में ताली बजाना...
मंदिर में पूजा के दौरान हम हाथ की दोनों हथेलियों और उंगलियों को मिलाकर तालियां बजाते रहते हैं जिससे इन पर बने प्वॉइंटस पर दवाब बढ़ता है। इससे बॉडी अच्छी तरह से काम करते है और हमारी इम्युनिटी सिस्टम मजबूत होती है।

मंदिर में हवन और आरती...

ये भी पढ़ें - पर्स में ना रखें ये 5 चीजें, वरना हो जाओगे कंगाल

मंदिर में हवन और आरती...
मंदिर में हर समय हवन और आरती होती रहती है जिसके कारण से हवा में मौजूद बैक्टीरिया खत्म होती है और शुद्ध् हवा हमारे फेफड़ों तक पहुंचती है जिससे वायरल इंफेक्शन का खतरा कम रहता है। मंदिर में मौजूद कपूर और हवन का धुआं बैक्टीरिया खत्म करता है। इससे वायरल इंफेक्शन का खतरा भी टलता है।

मंदिर के अंदर नंगे पैर प्रवेश करना...

ये भी पढ़ें - परीक्षा और इंटरव्यू में पानी हैं सफलता तो अपनाएं ये उपाय

मंदिर के अंदर नंगे पैर प्रवेश करना...
मंदिर के अंदर प्रवेश करते समय हम नंगे पैर रहते हैं। मंदिर में नंगे पैर चलने और परिक्रमा करने के कारण पैरों में मौजूद प्रेशर प्वाइंटस पर दवाब पड़ता रहता है जिससे हाई ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है।

ये भी पढ़ें - इन चीजों को घर में रखा तो हो जाएंगे कंगाल