केरल में बाढ़ का कहर : PM मोदी ने किया हवाई सर्वेक्षण, 500 करोड की मदद

www.khaskhabar.com | Published : शनिवार, 18 अगस्त 2018, 11:36 AM (IST)

तिरुवतंपुरम। भारी बारिश और बाढ़ की चपेट में आए केरल में हालात का जायजा लेने गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मुख्यमंत्री अधिकारियों विजयन तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की है। पीएम मोदी ने प्रदेश के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण कर हालात का जायजा लिया। प्रधानमंत्री ने बाढ़ से प्रभावित केरल के लिए 500 करोड रुपए की तत्काल मदद की घोषणा की है। इसके अलावा प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से मृतकों के परिजनों को 2 लाख और घायलों को 50 हजार रुपए का ऐलान भी किया है।

तबाही ऐसी है कि जल और जमीन का अंतर ही मिट गया है। शहर समंदर में तब्दील हो चुके हैं। सडक़ों पर नावें दौड़ रही हैं। अलेप्पी इलाके में आईटीबीपी ने बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया और जवानों ने सैलाब में फंसे करीब 500 लोगों को कड़ी मशक्कत के बाद मौत की लहरों के बीच से बाहर निकाला। रस्सी के सहारे लोगों को सही सलामत बेकाबू लहरों के बीच से बाहर निकाला गया।


1,300 कर्मियों, 435 नौकाओं, 20 विमानों, 38 हेलीकॉप्टर तैनात

राहत एवं बचाव कार्यो में सेना, वायुसेना और नौसेना के नेतृत्व में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की टीमों के साथ 1,300 कर्मियों और 435 नौकाओं को तैनात किया गया है। संसाधनों को पहुंचाने के लिए 20 विमानों के अलावा 38 हेलीकॉप्टर तैनात किए गए हैं।

सेना ने इंजीनियरिंग टास्क फोर्स (ईटीएफ) से जुड़े लगभग 10 टुकड़ियों और 10 टीमों को तैनात किया है, जिसमें करीब 790 कर्मी शामिल हैं। नौसेना ने दो हेलीकॉप्टरों, दो जहाजों के साथ 82 टीमों, 42 तटरक्षक गार्ड तैनात किए हैं।बचाव और राहत कार्यो के लिए अर्धसैनिकबलों की पांच कंपनियों को भी तैनात किया गया है। नौ अगस्त से लेकर अब तक लगभग 7,000 लोगों को बचाया जा चुका है और करीब 900 लोगों को चिकित्सकीय सहायता मुहैया कराई गई है।


12 जिलों में रेडअलर्ट जारी
केरल पर आई कुदरत की सबसे बड़ी तबाही में अब तक 324 लोगों की मौत हो चुकी है। 14 जिलों में से 12 जिलों में रेडअलर्ट जारी किया गया है। कासरगोड़ और तिरुवनंतपुरम जिलों में शुक्रवार को रेडअलर्ट हटा लिया गया है। वहीं, हजारों लोग अभी भी ऊंची इमारतों पर बैठे हैं और बचाए जाने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। अकेले एर्नाकुलम और त्रिशूर शिविरों में 50,000 से अधिक लोग फंसे हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

केरल : नौसेना ने 500 लोगों को सुरक्षित निकाला
नौसेना ने बाढ़ प्रभावित केरल में अपने राहत और बचाव अभियान के दौरान शुक्रवार को लगभग 500 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। केरल में पिछले कुछ दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश से आई बाढ़ में जान और माल की भारी हानि हुई है। नौ दिन पहले शुरू हुए ऑपरेशन मलाड के तहत शुक्रवार को राज्य के विभिन्न स्थानों पर 58 बचाव दल तैनात रहे।
अधिकारियों के अनुसार, बाढ़ की स्थिति राज्यभर में पहले जैसी रहने के बाद नौसेना द्वारा बचाव अभियान के इतिहास में यह अभूतपूर्व अभियान चलाया गया। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि दस दिन पहले राज्य में बाढ़ आने के बाद से 3,000 से ज्यादा लोग तैनात हैं।

उनके अनुसार, अभी भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने तथा उन्हें पेयजल और भोजन जैसी मूल भूत जरूरतें उपलब्ध कराने के प्रयास जारी हैं। दक्षिणी नौसेना कमान ने शुक्रवार को कुल 58 बचाव दल और जेमिनी नावों के साथ तैराक दल तैनात किए जबकि बचाव अभियान में तेजी लाने के लिए 18 अन्य दलों को विभिन्न स्थानों पर भेजा गया। प्रवक्ता ने कहा कि पूर्वी नौसेना कमान और पश्चिमी नौसेना कमान से बचाव कर्मियों के 19 दल आए।

ये भी पढ़ें - इस लडकी का हर कोई हुआ दीवाना, जानें...

हेल्पलाइन नंबर जारी
केरल में बाढग़्रस्त इलाकों के लिए सरकार ने कई हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं।
डीसी कोडागू के लिए +91-9482628409,
सीईओ जेडपी कोडागू के लिए +91-9480869000.
हेलीकॉप्टर हेल्पलाइन- +918281292702,
चंद्रू- +919663725200,
धनजय- +91 9449731238,
महेश- +91 9480731020,
आर्मी- +919446568222

ये भी पढ़ें - अजब- गजबः बंद आंखों से केवल सूंघकर देख लेते हैं ये बच्चे