CM की बदौलत इंग्लैंड के डेलिगेशन को मिला पुरखों की मातृभूमि से जुड़ने का मौका

www.khaskhabar.com | Published : रविवार, 12 अगस्त 2018, 12:36 PM (IST)

जालंधर/चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की बदौलत ही पुरखों की मातृभूमि से जुड़ने का मौका मिला है। यह कहना है इंग्लैंड से आए 14 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का। आपको बता दें कि यह प्रतिनिधिमंडल पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा चलाए गए प्रोग्राम ‘अपनी जड़ों से जुड़ो’ की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस प्रयास द्वारा उनको अपने पुरखों की मातृभूमि के साथ जुड़ने का मौका मिला है।

यहां खेल का सामान बनाने वाली मशहूर निर्माण कंपनी ‘सावी इंटरनेशनल’ में डिप्टी कमिश्नर वरिन्दर कुमार शर्मा से बातचीत करते हुए प्रतिनिधिमंडल में शामिल प्रोग्राम के कोर्डिनेटर वरिन्दर सिंह खेड़ा के इलावा सुरिन्दर कौर खेड़ा, करन खेड़ा, हरलीन खेड़ा, सेरेना जस्सल, रेखा जस्सल, जैसन दोसांझ, सिमरन लाल, काजल लाल, हैरी सिंह सेठी, हुनरदीप सिंह सिद्धू, सरगम छाबड़ा, तुरुण पवार, जसकरन रत्न, संजीत रत्न, जश्न सिंह गिल और किरण ने कहा कि इस प्रोग्राम द्वारा उनको पंजाब के सामाजिक, धार्मिक और सांस्कृतिक विरसे के बारे अमूल्य जानकारी मिली है। नौजवानों ने कहा कि उनका यह दौरा बड़ा ही यादगार रहेगा।

उन्होंने कहा कि उनको गुरुद्वारा साहिबान में नतमस्तक होने का सौभाग्य हासिल हुआ है, जिससे उनको अपने पुरखों की धरती के साथ सीधे तौर पर जुड़ने का मौका मिला है। विरासत-ए-खालसा और अन्य स्थानों पर बिताए पलों को याद करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी जानकारियां हासिल हुईं, जिनसे वे पूरी तरह अनजान थे। प्रतिनिधिमंडल ने पंजाब सरकार के यतनों की प्रशंसा करते हुए कहा कि अलग-अलग जिलों में भी उनको बहुत प्यार मिला है। उन्होंने कहा कि पंजाबियों द्वारा की गई आवभगत से यह दौरा और भी यादगार बन गया है।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

इस अवसर पर प्रतिनिधिमंडल का स्वागत करते हुए डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा ‘जड़ों से जुड़ो प्रोग्राम’ लंदन में सितंबर 2017 में चलाया गया था। जिस दौरान उन्होंने विदेशों में बसते नौजवान लड़के-लड़कियां जिन्होंने पंजाब नहीं देखा, को पंजाब दौरे का न्योता दिया था।


ये भी पढ़ें - इस लडकी का हर कोई हुआ दीवाना, जानें...

शर्मा ने कहा कि यह प्रोग्राम जहां एन.आर.आई नौजवानों को पंजाब के इतिहास, सभ्याचार और साहित्य बारे अवगत करवाता है, वहीं पंजाब के धार्मिक स्थानों की महत्ता भी बताता है। इस अवसर पर राजस्व अधिकारी गुरप्रीत सिंह और प्रशासन के अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

ये भी पढ़ें - इस लडकी का हर कोई हुआ दीवाना, जानें...