हरियाणा के राज्यपाल ने 96 पुलिस अफसर-कर्मचारियों को सम्मानित किया

www.khaskhabar.com | Published : शुक्रवार, 27 जुलाई 2018, 5:40 PM (IST)

चंडीगढ़। हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने कहा कि हरियाणा की पुलिस अदम्य साहस और गौरवशाली है। इसलिए कहा जाता है कि जय हरियाणा की धरती, जय हरियाणा के वीर। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में गर्वर्नेंस का मतलब शासन करना नहीं बल्कि सेवा करना होता है। इसलिए पुलिस को भी अपने पद का प्रयोग जनसेवा के लिए करना चाहिए। इसी सेवाभाव के साथ पुलिस लोगों का मित्र बन सकती है। हर व्यक्ति को यह लगना चाहिए कि पुलिस उसकी सहायता के लिए है तभी आमजन खुद को सुरक्षित महसूस करेगा।

यह उद्गार उन्होंने आज यहां हरियाणा राजभवन में आयोजित अलंकरण समारोह में 96 पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को उनकी उत्कृष्ट व सराहनीय सेवाओं के लिये सम्मानित करने उपरांत कहे। समारोह में वर्ष 2014 से 2017 तक के वीरता और राष्ट्रपति पुलिस पदक प्रदान किए गए।

राज्यपाल ने कहा कि हरियाणा के वीर देश और विदेश में अपना परचम लहराते हैं, यह बात पुलिस में भी देखने को मिलती है। उन्होंने कहा कि पुलिसवालों को देशभक्ति और जनसेवा की केवल प्रतिज्ञा ही नहीं दिलाई जाती बल्कि वे इन गुणों को अपने व्यवहार में शामिल करते हैं। उन्होंने कहा कि देशभक्ति और जनसेवा इन्हीं गुणों के साथ एक पुलिसवाला सच्चा इन्सान बनता है।

समारोह में पुलिस महानिरीक्षक गुप्तचर विभाग अनिल कुमार राव तथा उप-पुलिस महानिरीक्षक श्री सतेन्द्र कुमार गुप्ता को पुलिस में बहादुरी सेवाओं के लिये सम्मानित किया गया। पुलिस महानिदेशक शील मधुर, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक पी के अग्रवाल, सुधीर चैधरी, डा0 आर0 सी0 मिश्रा, शत्रुजीत सिंह कपूर, ओपी सिंह, अजय सिंघल तथा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (सेवानिवृत) राजबीर सिंह देशवाल को उनकी विशिष्ट सेवाओं के लिये राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया गया।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

इसी के साथ साथ पुलिस महानिदेशक केपी सिंह, बी के सिन्हा, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक आलोक कुमार मितल, पुलिस महानिरीक्षक चारू बाली, सुभाष यादव, डा0 एम0 रवि किरण, संजय कुमार तथा राजिन्द्र कुमार, उप-पुलिस महानिरीक्षक शिबास कविराज, वाई0 पूरण कुमार, पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार, ओम प्रकाश, कीर्तपाल सिंह, कुलदीप सिंह, राजेश कुमार दुग्गल, सुरेन्द्र पाल सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बलबीर सिंह (सेवानिवृत), रमेश पाल (सेवानिवृत),उप- पुलिस अधीक्षक मोहिन्द्र पाल (सेवानिवृत), अनूप सिंह (सेवानिवृत), दलबीर सिंह (सेवानिवृत), विरेन्द्र सिंह, सुरेन्द्र सिंह (सेवानिवृत), दलीप कुमार (सेवानिवृत), उदय राज सिंह तनवर, धर्मवीर, सुरेश चन्द, शकुन्तला देवी, हिशम सिहं तथा अजय कुमार को उनकी सराहनीय सेवाओं के लिये पुलिस पदक से सम्मानित किया गया।

इसके अतिरिक्त निरीक्षक रामबीर सिंह (सेवानिवृत), लाल सिंह (सेवानिवृत), कमल सिंह (सेवानिवृत), ज्योती शील (सेवानिवृत), अनूप सिंह (सेवानिवृत), राजरूप सिंह (सेवानिवृत), अमर सिंह (सेवानिवृत), वतन सिंह, राजपाल सिंह, विजयपाल, अजाद सिंह, अश्वनी कुमार, मलकीयत सिंह, सत्यबीर सिंह, सतपाल, उमेद सिंह, बलराज सिंह, सुरेन्द्र सिंह, ओआरपी निरीक्षक विरेन्द्र सिंह तथा ओ0 आर0 पी0 निरीक्षक इद्रपाल सिंह को भी इनकी सराहनीय सेवाओं के लिये पुलिस पदक से सम्मानित किया गया।

सराहनीय सेवाओं के लिए सम्मनित होने वालों में उप-निरीक्षक देवेन्द्र सिंह, रामकरण, सुशील कुमार, राजीव मोहन, सुल्तान सिंह, हरबिलास सिंह,सिकन्द्र लाल, बलदेव कृष्ण, रमेश चन्द, विनोद कुमार, हरि राम, गुरविन्द्र सिंह,रणजीत सिंह, किरपाल सिंह ओ0 आर0 पी0 उप-निरीक्षक जगबीर सिंह, ओ0 आर0 पी0 उप-निरीक्षक जितेन्द्र सिंह तथा ओ0 आर0 पी0 उप-निरीक्षक सतपाल सिंह भी शामिल है।

सहायक उप-निरीक्षक मनोज कुमार, राम कुमार, देवी लाल, जसबीर सिंह, शमशेर सिंह, मोहन सिंह, इन्द्र दीप सिंह, महिला सहायक उप-निरीक्षक सीमा गुप्ता, जनक कुमारी, सुखजिन्द्र पाल कौर, ई0 ए0 एस0 आई0 सुरेश चन्द, गुरमीत सिंह, कुलबीर सिंह, प्रदीप कुमार, सुरेन्द्र सिंह, भगीरथ, रविन्द्र कुमार, भगवान दास, राजबीर सिंह तथा नरेश कुमार को भी उनकी सराहनीय सेवाओं के लिये पुलिस पदक से नवाजा गया।
इस मौके पर हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु, गृह सचिव श्याम सुंदर प्रसाद और हरियाणा पुलिस के महानिदेशक बी. एस. संधु उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें - भगवान शिव को पाने के लिए युवती ने जान दी