प्रदेश की 29 मंडी टाउनशिप शहरी स्थानीय निकाय को ट्रांसफर की

www.khaskhabar.com | Published : गुरुवार, 29 मार्च 2018, 8:33 PM (IST)

चंडीगढ़। हरियाणा में शहरी विकास को गति देने के लिए प्रदेश के गठन से पूर्व ही स्थापित की गई मंडी टाउनशिप कालोनियों के हजारों बाशिंदों को हरियाणा सरकार ने बडी सौगात दी है।

शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन के लगातार हस्तक्षेप और निगरानी के बीच हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ने प्रदेश की 29 मंडी टाउनशिप को शहरी स्थानीय निकाय विभाग को स्थानांतरित कर दिया है और भविष्य में बेहतर विकास का खाका तैयार करने के लिए कमेटी का गठन किया है, जो अगले दो महीने में अपनी रिपोर्ट सौंप देगी।

दिसंबर 2016 के पहले सप्ताह में हरियाणा मंडी टाउनशिप एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला एवं प्रदेश भाजपा मीडिया प्रमुख राजीव जैन से संयुक्त मुलाकात करते हुए ज्ञापन सौंपा था। ज्ञापन में उन्होंने बताया कि हरियाणा में वर्ष 1958 से शहरी विकास को गति देने के लिए मंडी टाउनशिप विभाग के तहत कालोनियां विकसित की गई थी, जो विभाग के हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण में वर्ष 1987 में विलय होने तक जारी रहा। इसके बाद से विभिन्न कारणों के चलते इन क्षेत्रों में विकास अवरूद्ध होता चला गया। इसके बाद शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से उनकी मुलाकात कराते हुए मामले की गंभीरता से अवगत कराया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अधिकारियों को इस विषय के समाधान के निर्देश दिए गए।

मंत्री कविता जैन ने बताया कि बैठकों के दौर के बाद अब प्रदेश की 29 मंडी टाउनशिप को पालिकाओं में स्थानांतरित करने की मंजूरी हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की 113वीं बैठक में प्रदान कर दी गई है। यही नहीं इन मंडी टाउनशिप में सुनियोजित तरीके से विकास कराने के लिए प्रपोजल तैयार किए जाएंगे। इसके लिए प्रत्येक मंडी टाउनशिप के लिए एक कमेटी का गठन किया गया है, जिसमें संपदा अधिकारी हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण चेयरमैन, पालिका के सचिव/कार्यकारी अधिकारी, उपायुक्त के प्रतिनिधि सदस्य और प्राधिकरण के उपमंडल अभियंता (सर्वे) सदस्य सचिव नियुक्त किए गए हैं। यह कमेटी अगले दो महीने में अपनी पूरी रिपोर्ट तैयार करके देगी। उन्होंने बताया कि रिपोर्ट में मंडी टाउनशिप की पूरी संपदा, बिना बिके प्लाट, जनसुविधाओं का स्टेटस, रिकवरी, जिम्मेदारियां, भविष्य में होने वाले विकास कार्यों को लेकर विस्तृत रिपोर्ट दी जाएगी, ताकि पालिकाओं में स्थानांतरित हो चुके इन मंडी टाउनशिप का बेहतर संचालन और विकास सुनिश्चित हो सके।

हरियाणा में 1957 में प्रारंभ हुई मंडी टाउनशिप कालोनियों को प्रदेश सरकार द्वारा हुडा (वर्तमान में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण)से संबद्ध कर दिया गया था। पालिका में स्थानांतरण की प्रक्रिया पूरी होने से आदमपुर, अमीन, अंबाला सिटी, भट्टू कलां, बवानी खेडा, भिवानी, वल्लभगढ, डबवाली, धंशुल खेडर, ऐलनाबाद, फतेहाबाद, गुरूग्राम, गुहला-चीका, हांसी, हथीन, हिसार, झज्जर, कलायत, कैथल, कालांवाली, कोसली, नरवाना, नारनौल, पेहोवा, पूंडरी, पापडा, रतिया, रेवाडी, सिरसा, टोहाना एवं तोशाम मंडी टाउनशिप में विकास कार्यों की गति को तेज किया जा सकेगा।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे