केजरीवाल सरकार का पहला ‘ग्रीन’ बजट, दिल्लीवालों को मिली ये बड़ी सौगातें

www.khaskhabar.com | Published : गुरुवार, 22 मार्च 2018, 1:17 PM (IST)

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने गुरुवार को 2018-19 का बजट पेश कर दिया है। राज्य के वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने विधानसभा में कहा कि कुल बजट 53,000 करोड़ रुपये का है। उन्होंने कहा कि साल 2014-15 का बजट 30,940 करोड़ रुपये जबकि 2011-12 का बजट 26,402 करोड़ रुपये था।

केजरीवाल सरकार ने की ये बड़ी घोषणाएं

-वरिष्ठ नागरिकों के लिए मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा नाम का कार्यक्रम, 53 करोड़ रुपये का प्रावधान।
-स्वास्थ्य के क्षेत्र में 6729 करोड़ रुपये का प्रस्ताव।
-नए अस्पतालों के निर्माण और मौजूदा के नवीकरण के लिए 450 करोड़ का प्रावधान।
-10वीं और 12वीं पास करने के बाद दिल्ली से बाहर भारत में अन्य राज्यों के संस्थानों में जाने वाले छात्रों को भी स्कॉलरशिप।
-खेलो और तरक्की करो व मिशन एक्सिलेंस कार्यक्रम के लिए 35 करोड़ का बजट।
-एक लाख 20 हजार सीसीटीवी कैमरे लगाएंगे, प्रत्येक स्कूल में 150 से 200 कैमरे लगेंगे।
मिशन बुनियाद योजना के तहत दिल्ली सरकार और नगर निगम के बच्चों को रीडिंग और मैथ स्किल के लिए मई-जून में अभियान चलाएंगे।
-शैक्षिक ढांचे में वृद्धि, 12748 क्लास रूम, 30 नए स्कूल बिल्डिंग बनाने की योजना है।
-मेगा पीटीएम के माध्यम से सरकारी स्कूलों से अभिभावकों को जोड़ा गया।
-बच्चों को निराशा से बचाने, खुश रखने और स्वस्थ मस्तिष्क के निर्माण के लिए दिल्ली के सरकारी स्कूल में नया पाठ्यक्रम
-2018-19 में शिक्षा के लिए सबसे अधिक 26 फीसदी बजट, 13997 करोड़ रुपये का प्रावधान।
-सुरक्षित परिवहन के लिए रात्रि सेवा में डीटीसी के परिवहन में विस्तार।
-दिल्ली के सभी रेस्तरां में 5000 रुपये प्रति तंदूर की सहायता राशि दी जाएगी! इलेक्ट्रिक जेनेरेटर पर भी सहायता राशि का प्रस्ताव! 1000 प्रदूषण के डिस्प्ले मीटर लगाए जाएंगे! वल्र्ड बैंक की टीम के परामर्श से प्रदूषण के पूर्व अनुमान पर काम किया जाएगा।
-सिसोदिया ने कहा, हमारी सरकार ने लोगों को आधे दामों पर बिजली उपलब्ध करवाई।
-16 किलोमीटर तक साइलक ट्रैक के ऊपर सोलर पैनल लगाए जाएंगे।
-दिल्ली की सरकारी इमारतों पर सोलर पैनल लगाए जाएंगे।
-दिल्ली में सौर्य ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ावा देगी सरकार।
-नगर निगम को इस साल कुल बजट का 13 फीसदी आवंटन, निगम की टूटी सडक़ों की मरम्मत के लिए 1000 करोड़ का अलग बजट।
-सिसोदिया बोले, पहली बार हम ग्रीन बजट लेकर आए हैं, सालाना बजट का एक चौथाई हिस्सा हमने शिक्षा पर पिछले 3 साल में खर्च किया है! दिल्ली को सबसे सस्ती बिजली और पानी भी दी है।
-सीएनजी से चलनेवाली कार खरीदने पर रजिस्ट्रेशन फी में 50 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।
-ई-रिक्शा को मिलेगा बढ़ावा।
-मेट्रो के पास 910 इलेक्ट्रिक फीडर वीकल लाई जाएंगी।
-आगामी वर्ष में 1 हजार इलेक्ट्रिक बसें दिल्ली में लाई जाएंगी।
-सरकार पीएनजी के इस्तेमाल के लिए लोगों को प्रोत्साहित करेगी और 1 लाख तक की सहायता राशी देगी।
-दिल्ली में वॉकिंग ट्रेल विकसित किए जाएंगे।
-ग्रीन बजट के तहत पूरे दिल्ली शहर में अधिक से अधिक पेड़ लगाए जाएंगे।
-दिल्ली की टूटी हुई सडक़ों को बनाने के लिए 1000 करोड़ रुपये का बजट।
-मोहल्ला क्लिनिक का बजट बढ़ाया गया।
-मनीष सिसोदिया ने रोजगार की स्थिति पर भी चिंता जताई।
-खेलो और तरक्की करो कार्यक्रम के तहत 14 से 17 वर्ष के आयु के रैकिंग में शीर्ष खिलाडिय़ों को वित्तीय सहायता।
-सरकारी स्कूलों में बालिकाओं के लिए सेल्फ डिफेंस की क्लास शुरू कर रहे हैं, 10 करोड़ की राशि का प्रावधान।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे