शहद है एक औषधि

www.khaskhabar.com | Published : सोमवार, 15 जनवरी 2018, 3:30 PM (IST)

शहद है एक औषधि
शहद के गुणकारी तत्व बडे हों या बच्चे सभी के लिए ये लाभकारी सिद्ध होते हैं। इससे मिलने वाली ऊर्जा और ताकत हमें चुस्त-दुरुस्त बनाए रखती है। वर्तमान समय के अनुसार हमें सदैव एक्टिव रहने की जरूरत भी होती है। परंतु एक समय के बाद हमारे शरीर में बदलाव होने लगते हैं और शिथिलता आने लगती हे, जिससे थकान और सुस्ती हमें घेर लेती है। तब जरूरत होती है ऐसे आहार की जो शरीर में ऊर्जा का संचार कर दे। शहद इस कार्य के लिए सर्वथा उपयुक्त है। शहद में उपस्थित मिनरल और विटामिन हमें ऊर्जा प्रदान कर ज्यादा समय तक गतिशील रखते हैं।
शहद को अलग से खाने के अलावा चीनी की जगह भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें उपस्थित प्राकृतिक मिठास धीरे-धीरे शरीर को ऊर्जा देती है, जिससे लंबे समय तक ताजगी बनी रहती है। इतना ही नहीं शहद में चीनी से अधिक मिठास होती है और मीठा करने के लिए कम मात्रा में रस की जरूरत होती है।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

इसके पोषक तत्व शारीरिक तौर पर हमें मजबूत बनाते हैं। कई बीमारियों से हमें बचाते है और वजन को बढने से भी रोकता है। इससे चेहरे पर चमक आती है और सदाबहार खूबसूरती भी बनी रहती है। इस तरह सर्वगुण सम्पन्न शहद महिलाएं, पुरुष, बूढें, नौजवान सभी के लिए लाभदायक होता है।
शहद की खासियत है कि यह सामान्य जीवनचर्या में भी फिट बैठता है। आज की तेज दिनचर्या में हम पर्याप्त भोजन नहीं कर पाते हैं परन्तु शहद के लिए कोई समय निकालने की जरूरत नही होती। शहद को नींंबू पानी, दूध, चाय या अन्य पेय के साथ मिलाकर पिया जा सकता है। साथ ही इसे कॉर्नफ्लेक्स, टोस्ट आदि के साथ भी लिया जा सकता है।

ये भी पढ़ें - इन रोगों से निजात दिलाता है निम्बू पानी

ठंड के मौसम में शहद दूध के साथ लेने पर बहुत लाभ होता है। बारिश के मौसम में अदरक के साथ, इलायची के चूर्ण, आदि के साथ ले सकते है।

ये भी पढ़ें - बहुत गुणकारी है चुकंदर

शहद को जहां तक हो सके अकेला सेवन नही करना चाहिए। दूध या पानी में कम मात्रा में मिलाकर खाना चाहिए। किसी भी तरह के ज्वर, जुकाम या अन्य किसी रोग में शहद का इस्तेमाल चाटने वाली या पीने वाली दवा में मिलाकर करें।

ये भी पढ़ें - गर्लफ्रेंड को मनाना है तो कीजिए उनके पैट को इंम्प्रेस

शहद को कभी भी गरम करके इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इससे ये विषैला हो जाता है और इसके तत्व जल जाते हैं।
चूर्ण, काढा, चटनी के साथ शहद को खाया जा सकता है।

ये भी पढ़ें - आदमियों की इन 5 आदतों से घुटती हैं महिलाएं