‘घाटी में कभी अपनी मनमर्जी से लक्ष्य चुनते थे आतंकी , लेकिन अब...’

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 22 नवम्बर 2017, 6:32 PM (IST)

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को कहा कि कश्मीर घाटी में सुरक्षा बलों का प्रभाव बढऩे के साथ सरकार राज्य में सामान्य स्थिति बहाल करने के सभी कदम सुनिश्चित कर रही है। जेटली ने कहा, वहां (घाटी) कभी हालात ऐसे थे, जब नागरिक अवज्ञा अपने चरम पर थी। वहां हजारों पत्थरबाज थे। आतंकवादी अपनी मनमर्जी से लक्ष्य चुन रहे थे..हुर्रियत अपनी मर्जी के मुताबिक आह्वान करता और सब कुछ पंगु हो जाता था।

उन्होंने कहा, आज हालात बदल चुके हैं। सुरक्षा बलों का प्रभुत्व है। पत्थरबाजों के लिए सामूहिक रूप से जुटना मुश्किल हो गया है। हुर्रियत बेनकाब हो चुकी है। उन्होंने कहा, सरकार की नीति वहां शाति बहाली की है.सरकार वहां सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए जरूरी कदमों पर काम कर रही है। मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार अपने वार्ताकार के जरिए कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के लिए उन सभी लोगों से वार्ता करना चाहती है, जो हल चाहते हैं।



ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

उन्होंने कहा, इस तरह की स्थिति में सरकार अपनी नई पहल के जरिए जो वार्ता चाहते हैं उनसे बात करना चाहती है। हम सामान्य जनजीवन की वापसी चाहते हैं। इसके लिए जो भी प्रयास होने हैं, उस पर हमारे विशेष प्रतिनिधि व राज्य सरकार फैसला करेगी। केंद्र ने पूर्व खुफिया ब्यूरो निदेशक दिनेश्वर शर्मा को जम्मू एवं कश्मीर का वार्ताकार नियुक्त किया है।

ये भी पढ़ें - यहां मरने के बाद भी होती है शादी, मंडप में दूल्हा-दुल्हन...