यूपी : बलिया में दो गुटों में हिंसक झडप, चौकी इंजार्च निलंबित, 22 लोग गिरफ्तार

www.khaskhabar.com | Published : गुरुवार, 12 अक्टूबर 2017, 09:34 AM (IST)

बलिया। उत्तर प्रदेश में एक बार फिर दो समुदायों के बीच झडप का मामला सामने आया है। बलिया में रतसर बाजार में दो पक्षों के बीच हुए विवाद के बाद धारा 144 लगा दी गई। इसके बावजूद तोडफोड और आगजनी की घटना सामने आई है। बलिया में जब ये बवाल हो रहा था उस वक्त मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ में पुलिस अधिकारियों के साथ त्योहारों के दौरान हुई हिंसा की समीक्षा बैठक कर रहे थे। मामले में लापरवाही बरतने पर रतसर चौकी इंचार्ज सुरेंद्र कुमार सिंह को निलंबित कर दिया गया है। वहीं पुलिस ने दोनों पक्षों से 22 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

बुधवार को गड़वार थाना क्षेत्र के रतसर गांव के बाजार में मंगलवार रात में हुई मारपीट में एक समुदाय के युवक की मौत की अफवाह फैल जाने से आग फिर से सुलग उठी। मंगलवार की शाम रतसर गांव के पूरबी राजभर बस्ती निवासी एक युवक अपनी मां को साइकल से लेकर घर लौट रहा था। बाजार में पंचायत भवन के समीप बाइक से साइकिल की टक्कर लग गई। इस पर दोनो में विवाद हो गया। बाइक सवार और उसके साथियों ने साइकिल सवार युवक की जमकर पिटाई कर दी। फिर युवक की मौत की अफवाह फैल गई और फिर आग सुलग उठी। एक पक्ष की तरफ से धरना प्रदर्शन के बाद तोडफ़ोड़ और आगजनी की गई।

आपको बता दें कि बलिया में मुहर्रम और दशहरा के दिन भी बवाल हुआ था। ऐसे में सवाल उठता है कि धारा 144 लागू होने के बावजूद अराजक तत्वों ने बवाल कैसे मचा दिया।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

अराजकतत्वों ने दर्जनभर दुकानों में तोडफ़ोड़ कर दो दुकानों को आग के हवाले कर दिया और लूटपाट की। मामले में लापरवाही बरतने पर रतसर चौकी इंचार्ज सुरेंद्र कुमार सिंह को निलंबित कर दिया गया है। वहीं पुलिस ने दोनों पक्षों से 22 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार ने बताया कि रतसर गांव में हुए बवाल मामले में 20 नामजद और सौ अज्ञात के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर 22 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि दोषियों पर एनएसए व गैंगेस्टर की कार्रवाई भी की जाएगी।

ये भी पढ़ें - इस पेड से निकल रहा है खून, जानिए पूरी कहानी