श्रीलंका बोर्ड ने पहले उतरवाई ग्राउंड स्टाफ की पेंट, फिर मांगी माफी

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 12 जुलाई 2017, 12:26 PM (IST)

नई दिल्ली। श्रीलंका क्रिकेट का सितारा इन दिनों गर्दिश में है। पिछले कुछ वर्षों में कुमार संगकारा, महेला जयवर्धने व तिलकरत्ने दिलशान जैसे दिग्गजों के संन्यास लेने के बाद से ही श्रीलंकाई टीम संक्रमण काल से गुजर रही है। श्रीलंका के वनडे प्रदर्शन में 2015 विश्व कप के बाद से लगातार गिरावट आई है।

उसे इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में हार झेलनी पड़ी और बांग्लादेश के खिलाफ घरेलू सीरीज में ड्रा से संतोष करना पड़ा था। वह पिछले महीने इंग्लैंड की मेजबानी में हुई चैंपियंस ट्रॉफी में भी ग्रुप चरण से बाहर हो गया था। अब आईसीसी रैंकिंग में 11वें नंबर की टीम जिम्बाब्वे ने श्रीलंका को उसके ही घर में वनडे सीरीज में 3-2 से हरा दिया।

इस बीच एक और खबर है जिससे श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड (एसएलसी) की फजीहत हुई है। बोर्ड की ग्राउंड स्टाफ से बदसलूकी को लेकर सोशल मीडिया पर काफी आलोचना हो रही है। हालांकि, खबर वायरल होने के बाद बोर्ड ने दुव्र्यवहार के लिए माफी मांग ली और स्टाफ को मुआवजा देने का भी ऐलान किया।

दरअसल बोर्ड ने जिम्बाब्वे के खिलाफ सोमवार को अंतिम वनडे खत्म होने के बाद अपने ग्राउंड स्टाफ को पैंट उतारकर वापस लौटाने को कहा। बोर्ड अधिकारियों ने कहा कि पैंट वापस लौटाने के बाद ही उन्हें मेहनताना मिलेगा। इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

श्रीलंका संडे टाइम्स वेबसाइट के मुताबिक ग्राउंड स्टाफ को 1000 रुपए की फीस पर मैच के दौरान स्टेडियम के कामकाज और सफाई के लिए बुलाया गया था। करीब 100 लोग उस वक्त मैदान पर मौजूद थे। उन्हें यूनिफॉर्म दी गई थी और मैच खत्म होने पर इसे उतारने को कहा गया। इनमें से ज्यादातर लोगों के पास कोई दूसरी पैंट भी नहीं थी।

ये भी पढ़ें - शतक लगा दूसरे स्थान पर आ सकते हैं विराट कोहली, ये हैं टॉप-10