बहुत गुणकारी है चुकंदर

www.khaskhabar.com | Published : रविवार, 24 सितम्बर 2017, 11:29 AM (IST)

चुंकदर में कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम और सोडियम में समृद्ध हे फोलिक एसिड और विटामिन सी का अच्छा स्त्रोत है। चुकंदर पौष्टिक होने की वजह से शरीर में कमजोरी को दूर करनेवाला, रक्तशोधक व कई रोगों में फायदा करता है। चुकंदर का सलाद के रूप में अधिक किया जाता है। एक अध्ययन के आधार पर लाल चुकंदर भी रक्तचाप को कम करती है। इसकी वजह इसमें भरपूर मात्रा में पाया जाने वाला नाइटे्रट है। यह एक ऐसा रसायन है जो पाचन तंत्र में पहुंच कर नाइट्रिक आक्साइड बन जाता है और रक्त प्रवाह को बढाता है तथा रक्तचाप को कम रखता है। यह मासंपेशियों की आक्सीजन की जरूरत को भी कम कर देता है। हाइपरटेंशन या उच्च रक्तचाप एक गंभीर बीमारी होती है जो हृदय संबंधी अन्य बीमारियों का भी बडा खतरा पैदा करती हैं।


[@ घरेलू उपाय:कील मुंहासों से पाएं छुटकारा ]



[# अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे]

चुकंदर के रस के साथ गाजर का रस समभाग में मिलाकर पीने से शरीर की ताकत तो बढती है, साथ ही मोटापा नहीं बढता और अनावश्यक चर्बी भी कम होती है।

[@ पत्नी को नींद न आए,नींद पूरी न हो तो समझो]

पत्तों के साथ खाने से चुकंदर शरीर में जल्द हजम हो जाता है। चुकंदर के पत्तों का रस गुनगुना गर्म करके कान में डालने से काम का दर्द में लाभ होता है। चुकंदर के पत्तों के रस में शहद मिलाकर दाद पर लगान से दाद ठीक हो जाते हैं।

[@ मटर खाने के लाभ क्या जानते हैं आप!]

जिन महिलाओं को माहवारी में कष्ट होता है, उन्हें अधिक से अधिक कच्चा चुकंदर खाना चाहिए। यह दूध और रक्त बढाता है और माहवारी में भी लाभ पहुंचाता है।

[@ पीले फल,सब्जियों के लाभ जान हो जाएंगे हैरान]

चुकंदर के 100 ग्राम रस में 25 ग्राम सिरका मिलाकर बालों की जडों में लगाने से रूसी खत्म होती है और बालों का झडना भी रूक जाता है।

[@ काली कलौंजी के चमत्कारी लाभ]

यकृत रोगों व पित्ताशय संबंधों विकारों में चुकंदर के रस के साथ समभाग में गाजर व ककडी का रस मिलाकर सुबह-शाम पीने से फायदा मिलाता है।

[@ घबराएं नहीं: आसानी से मुंह की दुर्गंध से पाएं छुटकारा]