सेना के दिल्ली कूच की खबर पर तिवारी को वीके सिंह की सलाह

www.khaskhabar.com | Published : रविवार, 10 जनवरी 2016, 09:42 AM (IST)

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने दावा किया है कि 2012 में फौज की एक टुकडी के दिल्ली कूच की खबर सही थी। उनके इस बयान पर राजनीति गरमा गई है। उधर, विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने मनीष तिवारी के दावे को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि तिवारी के के पास कोई काम नहीं है। इसलिए बेबुनियादी बातें करके सनसनी फैलाने की कोशिश में लगे हुए है। उन्हें मेरी किताब पढती चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि उस वक्त पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह ने भी ऎसी खबर को अफवाह करार दिया था।

सेना के दिल्ली कूच की खबर सही थी: तिवारी

मनीष तिवारी ने एक किताब लॉन्च के मौके पर कहा कि 2012 में फौज की टुकडी के दिल्ली कूच करने की खबर छपी थी और मुझे दुख के साथ कहना पड रहा है कि खबर सच थी। शनिवार को एक बुक लॉन्च के दौरान तिवारी ने एक सवाल के जवाब में कहा, 2012 में एक अंग्रेजी अखबार में फौज की एक टुकडी के दिल्ली कूच की खबर छपी थी। उस समय रक्षा मंत्रालय की स्टैंडिंग कमिटी का सदस्य मैं भी था और दुर्भाग्यवश वह खबर सही थी। ऎसा वाकई हुआ था। मैं किसी विवाद में नहीं पडना चाहता। अपनी जानकारी के आधार पर मैं कह सकता हूं कि सेना की एक टुकडी के दिल्ली की ओर बढने की खबर झूठी नहीं थी। आपको बता दें कि जब यह खबर सामने आई थी तब वीके सिंह थल सेना प्रमुख थे और उम्र विवाद को लेकर उनकी सरकार से तनातनी चल रही थी। तत्कालीन यूपीए सरकार के खिलाफ उम्र विवाद को लेकर वह सुप्रीम कोर्ट तक गए थे।

ये था अखबार का दावा

4 अप्रैल 2012 को अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने दावा किया था कि सरकार की बिना इजाजत के फौज की दो टुकडियां दिल्ली की तरफ बढी थीं। खबर में दावा किया गया था कि 16 और 17 जनवरी को हिसार की 33वीं आर्म्ड डिविजन दिल्ली की तरफ आते हुए राजधानी से 150 किमी दूर तक पहुंच गई थी। हिसार से 33वीं आर्म्स डिविजन की एक यूनिट बहादुरगढ के इंडस्ट्रियल पार्क तक पहुंच गई थी। इस यूनिट में 48 बख्तरबंद लडाकू वाहन शामिल थे। वहीं आगरा से 50 पैरा ब्रिगेड की टुकडी पालम तक पहुंच गई थी। इस दल का नेतृत्व लेफ्टिनेंट जनरल एके सिंह कर रहे थे।