यहां पति-पत्नी 5 दिनों के लिए बन जाते हैं एक दूसरे से अंजान, जानिए क्यों

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 27 सितम्बर 2017, 5:07 PM (IST)

भले ही आपको लगता है कि हमारा देश हर रोज तरक्की कर रहा हो लेकिन कई ऐसे गांव है जो अंधविश्वास में रुढि़वादी परंपराओं का बोझ उठाए हुए हैं। परंपराओं के नाम पर कुछ भी कर गुजरने को ये लोग तैयार रहते है। यहां परंपराओं के नाम पर जोड़ों से कई चीजें कराई जाती है जिनको देखकर आप भी शायद दंग रह जाएंगे।

हिमाचल प्रदेश में कुल्लू में पीणी गांव है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यहां साल के पांच दिन तक पति-पत्नी एक दूसरे से हंसी-मजाक भी नहीं कर सकते हैं। बिल्कुल अनजानों की तरह एक दूसरे से व्यवहार करते हैं। इतना ही नहीं आपको बता दें कि इस गांव में परंपराओं के नाम पर महिलाएं पांच दिनों तक काफी बारीक कपड़े पहनती हैं।

पूर्वजों के समय से यह परंपरा चली आ रही है,कहा जाता है कि अगर कोई महिला इस परंपरा का पालन नहीं करती है तो उसके घर कुछ अशुभ हो जाता है।
[# अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे


[@ इस महिला ने की एक गलती, सांपों ने किया जीना मुहाल]

इसका कारण ये है कि इस गांव में अगस्त के महीने में पांच दिनों के लिए काला महीना मनाया जाता है। लोगों का मानना है कि लाहुआ घोंड देवता जब पीणी पहुंचे थे तो उस दौरान राक्षसों का आतंक था। भादो संक्रांति को यहां काला महीना कहा जाता है और इस दिन देवता ने पीणी में पांव रखते ही राक्षसों का नाश किया था। कहा जाता है कि देवता के इस गांव में पांव रखने के बाद से ही इस देव परंपरा की शुरूआत हो गई, जो आज भी कायम है। जिससे महिला-पुरूष भादो महीने में पांच दिनों के लिए ये अजीबो-गरीब चीजें करते हैं।

[@ इस गांव में हर आदमी करोडपति, लेकिन गांव छोडते ही . . .]