ऎसे बर्तनों में खाने से मर्द बन सकते हैं नपुंसक

www.khaskhabar.com | Published : सोमवार, 02 फ़रवरी 2015, 2:06 PM (IST)

प्लास्टिक हमारे दैनिक जीवन का एक हिस्सा बन गया हमरा इससे दूर रहना मुश्किल हो रहा है। क्योंकि आजकल खाने-पीने के बर्तनों में अधिकतर प्लास्टिक का इस्तेमाल होता है। आजकल अधिकतर लोग प्लास्टिक के कप में चाय और ्रप्लास्टिक चढे बर्तनों में खाना खाते हैं। खाना तो खाना अधिकतर मिठाई भी प्लास्टिक के डिब्बे और रेस्टोरेंट में प्लास्टिक के डिब्बों में दिया जाने वाला गर्म खाना खाने में तो लजीज लगता है मगर यह हमारी सेहत केलिए कितना नुकसानदायक है, हमें इसका अंदाजा भी नहीं है।

[# अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

एक ताजा शोध के मुताबिक प्लास्टिक के कप में चाय पीना और प्लास्टिक कोटेड बर्तनों में खाना नपुंसक बना सकता है। बीएचयू के एक शोध में यह पाया गया है कि प्लास्टिक में किसी भी गर्म चीज को रखने से बीपीए (बिस फिनाल ए) नाम का एक रसायनिक तत्व निकलता है, जो पुरूष को नपुंसक बना सकता है।

चूहों पर इसका परीक्षण किया गया था। नपुंसकता के साथ ही यह ब्रेन पर भी प्रभाव डालता है और हार्ट अटैक का भी खतरा पैदा करता है। इस तरह का रिसर्च अमेरिका के अफसेट बुक में भी प्रकाशित हो चुका है। कैंसर स्पेशलिस्ट और कैंसर विनर्स एसोसिएशन के सदस्य डा. पवन गुप्ता ने बताया कि

यह प्लास्टिक जब गर्म पेय या खाने के संपर्क में आते हैं तो बिस फिनाल ए (बीपीए) का रिसाव होता है, जो जो लीवर कैंसर जैसी घातक बीमारी को जन्म देता है। इसके अलावा पेट की अधिकतर समस्याएं इससे पैदा होती हैं। इसलिए सावधानी बरर्ते और बीमारियों से छुटकारा पायें।