अतिथि अध्यापकों ने स्थायी करने के लिए प्रदर्शन किया

www.khaskhabar.com | Published : सोमवार, 17 अक्टूबर 2016, 11:31 PM (IST)

कुरूक्षेत्र। जिले के अतिथि अध्यापकों ने आज अपनी मांगों को लेकर लघु सचिवालय पर जोरदार धरना व प्रदर्शन किया जिसका नेतृत्व हरियाणा अतिथि अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष सुनील सैनी ने किया।यह धरना व प्रदर्शन अतिथि अध्यापकों द्वारा विद्यालय अवकाश के बाद किया गया।धरना व प्रदर्शन के बाद अतिथि अध्यापकों ने मुख्यमंत्री के नाम का एक ज्ञापन जिला उपायुक्त सुमेधा कटारिया सौंपा।
अतिथि अध्यापकों को संबोधित करते हुए संघ के जिलाध्यक्ष सुनील सैनी ने प्रदेश सरकार को उनकी पार्टी द्वारा चुनाव पूर्व जारी घोषणा पत्र में अतिथि अध्यापकों से किया गया वायदा याद दिलाया।उन्होंने कहा कि भाजपा पार्टी ने प्रदेश में सरकार बनते ही अतिथि अध्यापकों को नियमित करने का वायदा किया था परंतु प्रदेश में भाजपा सरकार बने दो साल होने को है परंतु इस वायदे की ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया जो कि अतिथि अध्यापकों व उनके परिवार के लिए चिंता का विषय बना हुआ है अतः प्रदेश सरकार को चाहिए कि वह अविलंब अतिथि अध्यापकों को नियमित करने का अपना वादा पूरा करें।
अतिथि अध्यापकों को संबोधित करते हुए हरियाणा अतिथि अध्यापक संघ के प्रदेश संगठन सचिव कुलदीप झरौली व संघ के प्रवक्ता राजेश शर्मा ने बताया कि आज प्रदेश के सभी जिलों में लघु सचिवालय पर अतिथि अध्यापकों द्वारा धरना व प्रदर्शन कर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री से ज्ञापन के माध्यम से यह मांग की गई है कि प्रदेश सरकार प्रदेश के राजकीय विद्यालयो में कार्यरत अतिथि अध्यापकों को नियमित करें और जब तक यह कार्यवाही पूर्ण होती है तब तक अतिथि अध्यापकों को पूरा कार्य पूरा वेतन प्रदान किया जाए।म उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को अतिथि अध्यापकों को नियमित करने की घोषणा प्रदेश में एक नवंबर को स्वर्ण जयंती के अवसर पर होने वाले कार्यक्रम में माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुख से करवानी चाहिए ताकि पिछले दस सालों से भी अधिक समय से प्रदेश के राजकीय विद्यालयो में कार्यरत अतिथि अध्यापकों को उनका हक मिल सके।
आज के धरना-प्रदर्शन में शाहबाद ब्लाक प्रधान कुलबीर कौशिक, लाडवा प्रधान तेजिन्द्र सिंह, बाबैन प्रधान रिषि सैनी, पेहवा प्रधान राजेंद्र सिंह अनिता, सीमा, संगीता , प्रियंका,सुमन, भगत सिंह, विनोद, कपिल, विनय, सुमंत व अन्य अतिथि अध्यापक उपस्थित रहे।