• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 3

पुणे वनडे: विराट,जाधव व हार्दिक के बूते भारत ने मैच 3 विकेट से जीत लिया

पुणे। नए कप्तान विराट कोहली (122) और केदरा जाधव (120) की आतिशी पारियों की मदद से भारत ने महाराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में रविवार को खेले गए पहले एकदिवसीय मैच में इंग्लैंड द्वारा रखे गए 351 रनों के विशाल लक्ष्य को हासिल कर तीन विकेट से मैच जीत लिया।

इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी का आमंत्रण मिलने पर निर्धारित 50 ओवरों में सात विकेट खोकर 350 रन बनाए थे। भारत ने 48.1 ओवरों में सात विकेट खोकर यह लक्ष्य हासिल कर लिया।
भारत ने दूसरी बार 351 रनों के लक्ष्य को तय किया है। इससे पहले वह 2013 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ नागपुर में यह लक्ष्य हासिल कर चुका है। यह तीसरी बार है जब भारत ने 350 से ज्यादा के लक्ष्य का पीछा करते हुए मैच जीता हो।

विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम संकट में स्थिति थी। उसने 63 रनों पर ही अपने चार बल्लेबाज खो दिए थे। शिखर धवन (1) और लोकेश राहुल (8) की सलामी जोड़ी के अलावा मध्यक्रम के अनुभवी बल्लेबाज युवराज सिंह (15) और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर माने जाने वाले महेंद्र सिंह धौनी (6) रन बनाकर पवेलियन लौट गए थे। ऐसे में रनों का पीछा करने में कई रिकार्ड अपने नाम कर चुके कोहली एक छोर पर खड़े थे।

कोहली ने बताया कि क्यों उन्हें धौनी के बाद टीम की जिम्मेदारी सौंपी गई। कप्तान की जिम्मेदारी को निभाते हुए अपने कंधों पर टीम को बोझ लेकर कोहली ने अपने बल्ले से रन उगलना शुरू किए। इसमें उनका बखूबी साथ दिया युवा बल्लेबाज और टीम में अपनी जगह पक्की करने की कोशिश में लगे जाधव ने।

दोनों बल्लेबाजों ने आक्रामकता में कोई कमी नहीं रखी और रन गति के हिसाब से खेलने लगे। कोहली ने शानदार अंदाज में क्रिस वोक्स द्वारा फेंके गए 32वें ओवर की आखिरी गेंद पर छक्का मारकर अपना शतक पूरा किया। इसके लिए उन्होंने 93 गेंदें खेलीं।

रनों का पीछा करते हुए कोहली इस मैच में दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की बराबरी पर पहुंच गए। सचिन ने रनों का पीछा करते हुए 17 शतक जड़े हैं, कोहली ने इस मैच में सचिन के इस रिकार्ड को छू लिया। इसी बीच जाधव ने अपने खाते में तेजी से 50 रन जोड़े। इसके लिए उन्होंने 29 गेंदों का सामना किया जो इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय बल्लेबाज द्वारा लगाया गया दूसरा सबसे तेज अर्धशतक था।

कोहली रन बनाते जा रहे थे, लेकिन बेन स्टोक्स ने अंतत: उनकी पारी को 37वें ओवर की दूसरी गेंद पर समाप्त किया। स्टोक्स की गेंद को मारने के चक्कर में कोहली डेविड विले को कैच थमा बैठे।

आउट होने से पहले इस नए कप्तान ने अपना काम कर दिया था। भारत को यहां से तकरीबन 13 ओवरों में 88 रनों की दरकार थी। कोहली और जाधव की जोड़ी ने 24.3 ओवरों में 8.16 की औसत से रन जोड़े। यह पांचवें विकेट के लिए एकदिवसीय क्रिकेट में पांचवीं सबसे बड़ी साझेदारी है।

कोहली के जाने के बाद भी जाधव ने अपने आक्रामक अंदाज में बदलाव नहीं किया। उन्होंने कोहली के आउट होने से पहले ही 36वें ओवर की पांचवीं गेंद पर चौका मारकर अपना दूसरा शतक पूरा किया था। उन्होंने अपना शतक पूरा करने के लिए 65 गेंदें खेलीं। जाधव को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

यह भी पढ़े

Web Title-Virat Kohli India brace for England power in first ODI in Pune
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: virat kohli, india, england, power in first, odi in pune, sports news in hindi, latest sports news in hindi, sports news
Khaskhabar.com Facebook Page:

खेल

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved