• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 3

शोधपत्रों के माध्यम से बताई महाकवि सूर्यमल्ल मीसण की भूमिका

कोटा। प्रदेश के शीर्ष राजस्थानी साहित्यकारों का दो दिन से कोटा में जमावड़ा लगा हुआ है। यहां केंद्रीय साहित्य अकादमी की ओर से महाकवि सूर्यमल्ल मीसण-व्यक्तित्व-कृतित्व पर आयोजित संगोष्ठी के दूसरे दिन सोमवार का आकर्षण उदयपुर के राजस्थानी भाषा के साहित्यकार प्रो. राजेन्द्र बारहठ रहे। उन्होंने अपने शोधपत्रों के माध्यम से महाकवि की उस भूमिका को प्रकट किया, जो 1857 की क्रांति से पहले कोटा अंचल के ठिकानेदारों को अंग्रेज सत्ता के खिलाफ संघर्ष के लिए उठ खड़े होने के लिए महाकवि ने निभाई थी। महाकवि मिश्रण ने इस बाबत कई पत्र लिखे और ऐसे कई पत्रों का इस संगोष्ठी में डॉ. बारहठ ने वाचन किया।


यह भी पढ़े :आखिर दो नाबालिग लड़कियां क्यों बोलीं- प्लीज... हमें घर नहीं जाना

यह भी पढ़े :आरपीएफ ने 20 साल से बिछुड़े वृद्ध को परिवार से मिलाया

यह भी पढ़े

Web Title-Through research papers discussed the role of the poet Surya Mall Misan
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: through, research, papers, discussed, role, poet, surya mall misan, kota, rajasthan hindi news, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, kota news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved