• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

तरक्की की ओर सहकारी चीनी मिल

कैथल। नवीन मल्होत्रा। कैथल सहकारी चीनी मिल, जो तीन साल पहले प्रदेश की सभी दस सहकारी चीनी मिलों में सबसे निचली पायदान पर थी। वो आज दूसरे स्थान पर पहुंच गई है। गन्ना प्रबंधक रामदिया श्योकंद ने मीडिया से बातचीत में कहा कि कैथल चीनी मिल प्रति क्विंटल गन्ने से चीनी बनाने की औसत में दस प्रतिशत से भी ऊपर है। तो ओवरआॅल परफाॅरमेंस में साढ़े नौ प्रतिशत की ऐतिहासिक रिकवरी लेकर चल रही है। ऐतिहासिक इसलिए कि छब्बीस साल के इतिहास में दिसंबर माह में अभी तक ये आंकड़ा मिल ने कभी नहीं छुआ। पिछले साल ये मिल चैथे नंबर पर पहुंची थी। और अब एक नंबर के लिए शाहाबाद शुगर मिल को टक्कर दे रही है। सभी दस मिलों की तुलना में चीनी रिकवरी की दर में गत वर्ष की तुलना में इसका बेहतर प्रदर्शन चल रहा है। पिछले बत्तीस दिनों से लगातार मिल चल रही है और एक बार भी ब्रेक डाउन नहीं हुआ। वर्ष 1991 में दी कैथल काॅ आपरेटिव शुगर मिल की स्थापना की गई थी। जिले में 16 हजार 665 एकड़ में गन्ने की फसल है। मिल का लक्ष्य 35 लाख क्विंटल गन्ना पिराई का है।

[@ अनोखी शादी: दूल्हा और दूल्हन क्रिकेट खेलकर शादी के बंधन में बंधे]

यह भी पढ़े

Web Title-progress toward cooperative sugar mill
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: progress toward cooperative sugar mill, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, kaithal news, kaithal news in hindi, real time kaithal city news, real time news, kaithal news khas khabar, kaithal news in hindi
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

हरियाणा से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved