• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

कमजोर वर्गो पर हमले से सख्ती से निपटने की आवश्यकता:राष्ट्रपति

नई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि एक-दूसरे की संस्कृतियों, मूल्यों और आस्थाओं के प्रति सम्मान एक ऎसी अनूठी विशेषता है, जिसने भारत को एक सूत्र में बांध रखा है। उन्होंने कहा कि बहुलवाद का मूल तत्व हमारी विविधता को सहेजने और अनेकता को महत्व देने में निहित है। प्रणब ने कहा कि आपस में जुडे हुए वर्तमान माहौल में, एक देखभालपूर्ण समाज धर्म और आधुनिक विज्ञान के समन्वय द्वारा विकसित किया जा सकता है।

राष्ट्रपति ने रविवार को 70वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कहा,स्वामी विवेकानंद ने एक बार कहा था- विभिन्न प्रकार के पंथों के बीच सहभावना आवश्यक है। यह देखना होगा कि वे साथ खडे हों या एकसाथ गिरें, एक ऎसी सहभावना जो परस्पर सम्मान न कि अपमान, सदभावना की अल्प अभिव्यक्ति को बनाए रखने से पैदा हो। न्याय, स्वतंत्रता, समता और भाईचारे के चार स्तंभों पर निर्मित लोकतंत्र को मजबूती से आगे बढ़ाने पर जोर देते हुए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि हमारे राष्ट्रीय चरित्र के विएद्ध कमजोर वर्गो पर हुए हमले पथभ्रष्टता है, जिससे सख्ती से निपटने की आवश्यकता है।

यह भी पढ़े

Web Title-president pranab addresses nation, stresses on diversity as main plank of unity
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: president , pranab mukherjee, addresses to nation, diversity, unity, hindi news, news in hindi, hindinews, news hindi, breaking news in hindi, today news in hindi, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved