• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

अधिकारी लगा रहे है स्वच्छ भारत मिशन को पलीता

Officials are putting the Clean India mission - Chittorgarh News in Hindi

चित्तौडग़ढ़। स्वच्छ भारत मिशन के तहत देश के प्रधानमंत्री गांव-गांव और ढ़ाणी-ढ़ाणी तक स्वच्छता का संदेश देने का प्रयास कर रहे हैं। साथ ही लोगों का स्वच्छता के माध्यम से जीवनस्तर सुधरे इसके प्रयास किए जा रहे हैं। चित्तौडगढ़़ जिला प्रशासन द्वारा भी इस अभियान को गंभीरता से लेकर पंचायतों को खुले में शौच से मुक्त कराने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन निचले स्तर के पंचायती राज के जनप्रतिनिधि और अधिकारी इस अभियान को पलीता लगाने में तुले हुए हैं।

स्वच्छ भारत मिशन के तहत गंगरार पंचायत समिति की बोरदा ग्राम पंचायत में ओडीएफ घोषित कर गौरवयात्रा निकाल दी गई, जिसमें विधायक से लेकर प्रशासनिक अधिकारी तक सभी ने शिरकत की, लेकिन इस पंचायत में बने कई शौचालय उपयोग में लेने लायक नहीं है। अब स्थिति यह है कि गांव में कुछ दिनों पूर्व निर्मित बेकार शौचालय वापस बनाए जा रहे हैं और पूर्व में बने कई शौचालय निर्माण का भुगतान ठेकेदार को कर दिया गया है। ऐसे में सरकारी अभियान में जमकर कमाई की गई है और लोगों शौचालयों के पुर्ननिर्माण अपने स्तर पर करना पड़ रहा है।

-लोग खेतों पर और घर में बन गए शौचालय

स्वच्छ भारत मिशन के तहत ओडीएफ हुई इस ग्राम पंचायत में शौचालय निर्माण की जब जानकारी ली गई तो एक चौंकाने वाला सच सामने आया। घरों में शौचालय बनाने वाले ठेकेदार ने, जब लोग खेतों पर काम कर रहे थे, उनके घरों में शौचालय का निर्माण करवा दिया। लोगों का यहां तक कहना है कि महज 2 से 3 घंटे में ये ढ़ांचे खड़े कर दिए गए। अब ये शौचालय केवल नाम के शौचालय बनकर रह गए हैं, जिनका कोई उपयोग नहीं है और इन शौचालयों के निर्माण की राशि का भी भुगतान किए जाने की जानकारी सामने आई है। ऐसे में आमजन के लिए चलाई जा रही इस अतिमहात्वाकांक्षी योजना का निचले स्तर पर जनप्रतिनिधि और स्थानीय अधिकारियों ने महज आर्थिक लाभ उठाने के लिए फोरी कार्यवाहियां कर दी है।

-अब मुसीबत बना सरपंच का सायरन

बोरदा ग्राम पंचायत में ओडीएफ होने के बाद खुले में शौच न हो, इसके लिए सरपंच पप्पू गुर्जर ने अपने निजी वाहन में एक विशेष सायरन लगवा रखा है, जो लोगों के लिए मुसीबत बन गया है, क्योंकि ओडीएफ होने के बाद लोग खुले में शौच नहीं कर सकते, वहीं बनाए गए शौचालय उपयोग में लेने लायक नहीं है। ऐसे में सरपंच का बजने वाला सायरन लोगों की समस्या बन गया है। जानकारी यह भी है कि सरपंच ने अपने ही किसी नजदीकी व्यक्ति को शौचालय बनाने का ठेका दे दिया था और इसी कारण सारा मामला गुड़-गोबर हो गया।

-अब धडल्ले से चल रहा निर्माण

पंचायत को ओडीएफ कराने के लिए पूर्व में बनाए गए शौचालय अनुपयोगी साबित होने के बाद अब शौचालयों का निर्माण कार्य लोग व्यक्तिगत स्तर पर धडल्ले से करवा रहे हैं। पूर्व में बनाए गए शौचालयों का जहां भुगतान कर दिया गया है, वहीं पंचायत की ओर से लोगों को झांसा दिया जा रहा है कि आपके शौचालय उपयोग में नहीं होने के चलते आपके खातों में पैसा नहीं आया है। शौचालय का निर्माण होने के बाद आपके खातों में सरकार द्वारा पैसा जमा करा दिया जाएगा। निचले स्तर पर हुई इस धांधली में सरकार द्वारा दी गई प्रोत्साहन राशि को खुर्द-बुर्द कर दिया गया है। ऐसे में अब देखना यह होगा कि सरकारी राशि को इस प्रकार खुर्द-बुर्द करने के मामले में प्रशासन द्वारा क्या कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

इनका कहना हे कि-

स्वच्छ भारत मिशन को गंभीरता से लिया जा रहा है। जिले की पंचायतों को ओडीएफ करवाने का भौतिक सत्यापन करवाया जा रहा है। ओडीएफ हुई पंचायत में निम्न गुणवत्ता के शौचालयों के निर्माण की जांच करवाई जाएगी। साथ ही स्थानीय स्तर पर जिम्मेदार अधिकारियों से शौचालयों का पुर्ननिर्माण करवाया जाएगा।

-लीला जाट, जिला प्रमुख, चित्तौडगढ़़

[@ चाचा भतीजे की लड़ाई में किसी को टिकट,किसी को मंत्री पद]

यह भी पढ़े

Web Title-Officials are putting the Clean India mission
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: officials are putting the clean india mission , hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, chittorgarh news, chittorgarh news in hindi, real time chittorgarh city news, real time news, chittorgarh news khas khabar, chittorgarh news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved