• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

अवैध खनन रोकने को बस में जाते हैं अधिकारी व कर्मचारी

Officers and employees are just in curbing illegal mining - Kullu News in Hindi

कुल्लू(धर्मचंद यादव)। जिला कुल्लू में बेरोकटोक लगातार हो रहे अवैध खनन को रोकने के सारे दावे हवाई साबित हो रहे हैं। क्योेकि प्रदेश में अवैध खनन को रोकने के लिये बडे-बडे दावे करने वाले उद्योग मंत्री मुकेश अग्निहोत्री के खनन विभाग के अधिकारियों के पास किसी भी जिला में कोई वाहन ही नहीं है और ऐसे में खनन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी अवैध खनन की सूचना मिलने पर बस में बैठकर अवैध खनन को रोकने के लिये छापामारी करने जाते हैं लेकिन जब तक वह मौके पर पहुंचते हैं तब तक खनन माफिया के लोग अपना काम करके निकल चुके होते हैं। विभाग की इस बेबसी के चलते खनन माफिया दिन-रात ब्यास व पार्वती नदी के अलावा अन्य नदी-नालों का सीना चीरकर रेत, बजरी और पत्थर निकालने में लगा हुआ है और विभाग पूरी तरह से असहाय बना हुआ है। विभाग के पास खनन माफिया के खिलाफ कार्यवाही करने के लिये मूलभुत सुविधा भी उपलब्ध नहीं है।
हैरत तो इस बात की है कि खनन अधिकारी जब ब्यास नदी में खनन को अंजाम दे रहे माफिया को पकडने जाती हैं तो वह बस में सफर करने के बाद वहां तक पहुंचते हैं। मगर तब तक खनन माफिया अपने काम को अंजाम देकर फुर्र हो चुका होता हैं। भले ही सरकार अवैध खनन को रोकने के बडे-बडे दावे करती हैं लेकिन उन दावों की पोल खनन विभाग की दुर्दशा से स्वंय ही खुल जाती है जिसके पास न तो माफिया को पकडने के लिए पर्याप्त सुविधायें है और न ही कोई वाहन। जिसके चलते खनन माफिया बेलगाम हो कर अवैध खनन को अंजाम दे रहा है। यही नहीं बल्कि खनन विभाग के पास पर्याप्त स्टाफ भी उपलब्ध नहीं है। कुल्लू में तो पूरा खनन महकमा ठेके के कर्मचारियों के सहारे चल रहा है।
खनन माफिया हुआ बेलगाम
जिला में खनन विभाग के पास पर्याप्त सुविधाओं के अभाव में खनन माफिया पूरी तरह से बेलगाम हो गया है। बाहंग मनाली से लेकर औट तक ब्यास व पार्वती नदी से रेतए बजरी और पत्थर निकालने का सिलिसला बेरोकटोक जारी है। जिसकी वजह से कई स्थानों पर भारी मात्रा में खनन होने से ब्यास व पार्वती का बहाव भी मुड चुका है। जिससे नदी के किनारे बसी कई बस्तियां खतरे में हैं। इतना ही नहीं जिला मुख्यालय से दस किलोमीटर दूर भुंतर हवाई अड्डे को भी खनन के कारण खतरा पैदा हो गया है। उसके बावजूद भी माफिया पर नुकेल कस पाने में विभाग पूरी तरह से बेबस साबित हो रहा है।
खनन विभाग के पास नहीं है अपना वाहन
जिला खनन अधिकारी बिंदिया रानी का कहना है कि खनन विभाग के पास अपना एक भी वाहन नहीं है। जिस कारण वह नियमित रूप से खनन माफिया पर नुकेल नहीं कस पा रही हैं। उनका कहना है कि शाम पांच बजे के बाद बस में सफर कर खनन माफिया को पकडना जोखिम भरा हो जाता है। उन्होंने बताया कि विभाग के शिमला स्थित निदेशालय को इस संदर्भ में सूचित किया जा चुका है। अगर वाहन मिलता है तो वह खनन माफिया के खिलाफ कडी कार्यवाही अमल में लाई जा सकती है।

[@ अजब गजबः यहां शिवलिंग पर हर साल गिरती है बिजली]

[@ अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे]

यह भी पढ़े

Web Title-Officers and employees are just in curbing illegal mining
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: officers, employees, just, curbing, illegal, mining, kullu news, himachal news, , hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, kullu news, kullu news in hindi, real time kullu city news, real time news, kullu news khas khabar, kullu news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

हिमाचल प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2021 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved