• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

पैसे के बंटवारे को लेकर की गयी थी हिस्ट्रीशीटर की हत्या

murdered for sharing money in azamgarh - Azamgarh News in Hindi

आजमगढ़। पैसे के बटवारे को लेकर हिस्ट्रीशीटर की हत्या कर दी गयी थी। ढाई वर्ष बाद इस घटना का राजफास हुआ और शव खोद कर निकाला गया। इस घटना में शामिल चारों आरोपी गिरफ्तार कर लिये गये। गिरफ्तार किये गये इन आरोपियों ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया।


यह गिरफ्तारी महराजगंज थानाध्यक्ष अशोकचन्द्र दूबे ने अपने मातहतों के साथ की। हुआ यह कि बीते 6 फरवरी को मेंहनगर थानाक्षेत्र के गौरा गांव निवासी सूरज सिंह उर्फ रवि सिंह पुत्र कमलेश सिंह ने महराजगंज थाने में महराजगंज थानाक्षेत्र के ही जमालपुर गांव निवासी रामनारायन सिंह पुत्र रमाशंकर सिंह, औसानपुर गांव निवासी विजय साहनी उर्फ मिठाई पुत्र लच्छन, रमेश साहनी पुत्र विद्या सागर व जमालपुर गांव निवासी अनिल यादव पुत्र बिरजू यादव के खिलाफ पंजीकृत कराया। दर्ज कराये गये मुकदमे में कराया गया है कि करीब ढाई वर्ष पहले मऊ जिले के दोहरीघाट के रहने वाले सुरेश साहनी पुत्र सुबाष साहनी की आपराधिक घटनाओं से प्राप्त रूपयों के बंटवारे के विवाद में इन्ही चारो ने मिलकर हत्या कर दी थी। घटना के दौरान सुरेश साहनी के सिर को ईंट से कूच दिया गया था और उसका शव जमालपुर गांव निवासी आरोपी रामनारायन सिंह के खेत में मिट्‌टी के नीचे दबा दिया गया था।



थानाध्यक्ष ने मुखबिर की सूचना पर परशुरामपुर कस्बे के पास से आरोपी रामनारायन सिंह व विजय साहनी उर्फ मिठाई को गिरफ्तार कर लिया और उनसे गहन पूछताछ की। पूछताछ में उन्होंने घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली तथा यह भी स्वीकार किया कि उन दोनों के अलावा रमेश साहनी व अनिल यादव भी घटना में शामिल थे। उनकी निशानदेही पर रामनारायन के खेत से पुलिस व प्रशासन की मौजूदगी में जेसीबी से खुदाई करवाकर मृतक की हड्डिïया आदि बरामद कर ली गयी। बरामद कंकाल को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथ ही दो अन्य फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस जगह-जगह दबिश दे रही है। इस दौरान यह भी पर्दाफास हुआ कि बीस वर्ष पहले रामनारायन सिंह, विजय साहनी उर्फ मिठाई व रमेश साहनी ने राजस्थान में बैंक गार्ड को गोली मारकर उसकी हत्या कर दी थी और भारी मात्रा में कैश लूटे थे। उस मुकदमे में सभी को न्यायालय से 12-12 साल की सजा हुई थी।


यह भी पता चला कि मृतक सुरेश साहनी इन सबका साथी था और दोहरीघाट थाने का हिस्ट्रीशीटर भी था। ढाई वर्ष पूर्व हत्या हो जाने के बाद भी वह आज तक हत्या का रहस्य न खुलने की वजह से दोहरीघाट थाने के अभिलेख में लापता दिखाया जा रहा था।

[@ Breaking News : अब घर बैठे पाए Free JIO sim होम डिलीवरी जानने के लिए यहाँ क्लिक करे]

[@ जेल से निकलते ही पूर्व मंत्रीजी को टिकट, पढ़िये हंडिया विधानसभा की दिलचस्प कहानी]

यह भी पढ़े

Web Title-murdered for sharing money in azamgarh
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: murdered, sharing money, azamgarh, gangster , hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, azamgarh news, azamgarh news in hindi, real time azamgarh city news, real time news, azamgarh news khas khabar, azamgarh news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2021 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved