• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

प्रधानमंत्री कौनसे धन से चुनाव जीते, यह बताने से कतरा क्यों रहे हैं : गहलोत

jaipur news : the former chief minister ashok Gehlot raised questions on Notebandi - Jaipur News in Hindi

जयपुर। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से अब सवाल किया है कि वे यह क्यों नहीं बताते कि उन्होंने पिछला चुनाव कालेधन से लड़ा था या सफेद धन से जीतकर प्रधानमंत्री बने थे। सच्चाई बताने में कतरा क्यों रहे हैं? देश के लोग इस सच्चाई को जानना चाहते हैं।


गहलोत ने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में एक कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद यहां मीडिया कर्मियों से कहा कि यह सभी जानते हैं कि चाहे कोई किसी भी राजनीतिक दल का व्यक्ति हो, नगर पार्षद, विधायक या सांसद का चुनाव लड़ता है, उसकी शुरुआत चंदे के पैसों से होती है। यहीं से भ्रष्टाचार शुरू हो जाता है, ऐसे में कालेधन को समाप्त कर देने जैसी बातें हिपोक्रेसी के सिवाय कुछ नहीं है।
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कालेधन को समाप्त करने का उद्देश्य अच्छा हो सकता है, मगर बिना तैयारी से उठाए गए इस कदम से आज किसान, मजदूर एवं आम नागरिक दुखी है, क्योंकि अपना पैसा निकालने के लिए उसे घंटों लाइन में लगना होता है, फिर भी बैंक से पैसा नहीं मिलना दुर्भाग्य की बात है। अब तो लोगों का विश्वास करेंसी और बैंकों से भी उठता जा रहा है, पता नहीं सरकार कब क्या फैसला कर दे।

गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री अब गरीबों के लिए बड़ी-बड़ी बातें बोल रहे हैं। इतिहास गवाह है कि भारतीय जनता पार्टी ने कभी भी गरीबों, मजदूरों और किसानों की परवाह नहीं की। यह पार्टी बड़े-बड़े उद्योगपतियों एवं व्यापारियों की परवाह करती आई है। इनके बड़े-बड़े जुमलों पर उन्होंने कहा कि यह वक्त बताएगा कि स्थिति क्या बनती है?

गहलोत ने कहा कि राजनीतिक चंदा जो कालेधन की जननी है, उस पर कोई चर्चा नहीं करना चाहता है, दुर्भाग्यपूर्ण है। मेरी दृष्टि में इस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चाहिए कि सभी राजनीतिक दलों के नेताओं से चर्चा कर ऐसे नतीजों पर पहुंचना चाहिए, जिससे कालाधन व भ्रष्टाचार पर पूरी तरह अंकुश लग सके।

एक सवाल पर गहलोत ने कहा कि नोटबंदी की घोषणा के बाद सरकार ने सौ से अधिक नए-नए फरमान जारी कर दिए, जो बैंक अधिकारियों को याद भी नहीं हैं, जो लागू भी नहीं हो पाते हैं। सरकार अब नई-नई बातें कह रही है कि घरों में कितना सोना पड़ा हुआ, उसकी हम जांच करेंगे और जप्त करेंगे। इसको लेकर घर-घर में विशेषरूप से महिलाओं में चिंता है क्योंकि हर घर में पुश्तैनी सोना भी है। लोगों ने अपना खर्च कम करके बड़ी मुश्किल से दुख-दर्द में काम लेने के लिए यह सोना जमा किया है। इसकी जब्ती की बात करने से ऐसा लगता है कि अब कानून का राज नहीं रहा।

खास खबर Exclusive: कई गलियों में बार बार बिका किशोर, पढ़ कांप जाएगी रूह

यह भी पढ़े

Web Title-jaipur news : the former chief minister ashok Gehlot raised questions on Notebandi
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: jaipur news, former, chief, minister, ashok, gehlot, raised, questions, notebandi, rajasthan hindi news, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved