• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

सरकारी अस्पताल में सुविधाओं की कमी, मरीजों के हाल-बेहाल

Facility are not much in government, patient in truoble - Hisar News in Hindi

हिसार। सिर पर गंभीर चोट हो, तो रेफर। हृदय रोग संबंधित गंभीर हालत हो, तो रेफर। अधिकांश गंभीर परिस्थितियों में उपचार नहीं कर पाने वाले नागरिक अस्पताल का नाम अब एक और परिस्थिति में भी रेफरल सेंटर बनता जा रहा है। वह है, प्रसव पीड़ा में आने वाली उस महिलाओं को रेफर करने का, जिनके गर्भ में पल रहे बच्चे की डिलीवरी सर्जरी के साथ होनी हो, या फिर गंभीर हालत में हो। कारण केवल एक ही है। नागरिक अस्पताल में स्त्री रोग विशेषज्ञ के रिक्त पद। इस स्थिति से निपटने के लिए अस्पताल में फिलहाल केवल एक ही महिला डॉक्टर हैं। इस महिला डॉक्टर के छुट्टी पर होने या फिर रात के वक्त यदि कोई ऐसा केस आ जाए, जिसकी सर्जरी करने पर ही डिलीवरी हो। उस केस को अग्रोहा रेफर किया जाता है।
21 दिन में 91 रेफर
अस्पताल से मिले आंकड़ों के अनुसार नागरिक अस्पताल के मैटरनिटी वार्ड में औसतन 15 डिलीवरी केस आते हैं। इस दौरान यदि दिसम्बर महीने में बीते दिन तक की बात करें तो बीते 21 दिनों में यहां आने वाले डिलीवरी केसेज में से 91 केस केवल रेफर किए गए हैं। कुछ केस ऐसे भी हैं, जिन्हें पता चला कि अस्पताल में चिकित्सक नहीं है, तो वे लामा (अस्पताल प्रशासन को बिना बताए जाना) हो गए।
सभी मूल सुविधाओं से लैस है मैटरनिटी वार्ड
ऐसा नहीं है कि नागरिक अस्पताल में डिलीवरी के लिए मूल सुविधाओं की कोई कमी हो। दिलचस्प बात है कि अस्पताल में प्रसव पीड़ा से ग्रस्त महिला की राहत के लिए सभी मूलभूत सुविधाएं हैं और नर्सिंग स्टाफ भी ऐसे मामलों को रेफर नहीं करने में रूचिकर है। मगर अस्पताल में चिकित्सक नहीं होने के चलते उन्हें मजबूरन केस को रेफर करना पड़ता है। इस समस्या को लेकर नर्सिंग स्टाफ का एक प्रतिनिधिमंडल प्रधान चिकित्सा अधिकारी से भी मिल चुका है और समस्या का जल्द समाधान करवाने की अपील की है।
कभी सबसे अधिक डिलीवरी वाला अस्पताल था नागरिक अस्पताल
अस्पताल से जुड़े सूत्रों की मानें तो कुछ समय पहले तक नागरिक अस्पताल में प्रदेश के अन्य नागरिक अस्पतालों की तुलना में सबसे अधिक डिलीवरीज होती थीं और वह भी सुरक्षित। इस बात से अनेकों बार विभाग के शीर्ष अधिकारी बैठक के दौरान हिसार नागरिक अस्पताल की टीम की प्रशंसा भी करते थे। आज स्थिति ठीक विपरीत हो चुकी है। अस्पताल में मैटरनिटी वार्ड में आने वाले अधिकांश रोगी रेफर का ही शिकार होते हैं।
कल-कल में 10 के करीब हुए रेफर
बीते दिन स्त्री रोग विशेषज्ञ चिकित्सक अवकाश पर थीं। इस दौरान नागरिक अस्पताल में प्रसव पीड़ा के साथ आने वाली महिलाओं में से करीबन दस महिलाओं की स्थिति को भांपते हुए नर्सिंग स्टाफ ने उन्हें अग्रोहा मैडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया।



[@ 27 लाख की यह कार साढ़े 53 लाख में हुई नीलाम, जानें क्यों हुआ ऐसा]

यह भी पढ़े

Web Title-Facility are not much in government, patient in truoble
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: haryana health department, haryana government, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, hisar news, hisar news in hindi, real time hisar city news, real time news, hisar news khas khabar, hisar news in hindi
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

हरियाणा से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved