• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 4

पूर्व आदेश रद्द, क्रिमिनल केस से बरी भी हो तो फोर्स में नौकरी नहीं : हाईकोर्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट के एकल जज के उस आदेश को रद्द कर दिया है, जिसमें क्रिमिनल केस होने पर भी पुलिस फोर्स नौकरी दिये जाने की बात कही गई थी। हाईकोर्ट के डबल जजों की बेंच ने आदेश दिया कि अगर क्रिमिनल केस से अभ्यर्थी बरी भी हो गया हो तब भी उसे पुलिस फोर्स में नौकरी नहीं दी जा सकती।
हाईकोर्ट ने स्पष्ट किया कि डीएम चरित्र सत्यापन के दौरान क्रिमिनल केस पर नियमावली के अनुसार ही निर्णय ले । हाईकोर्ट ने फैसला दिया है कि भले ही कोई अभ्यर्थी आपराधिक मामले में कोर्ट से बरी हो गया हो फिर भी नियुक्ति प्राधिकारी उसके आपराधिक इतिहास व आचरण पर विचार कर उसके नियुक्ति को लेकर निर्णय ले सकता है।
कोर्ट ने हत्या के प्रयास के अपराध में न्यायालय से बरी दरोगा भर्ती में चयनित अभ्यर्थी को प्रशिक्षण पर भेजने के एकल जज के आदेश को रद्द कर दिया है। सरकार की विशेष अपील पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट के दो जजों की खण्डपीठ ने आदेश दिया कि पुलिस भर्ती बोर्ड जिलाधिकारी की रिपोर्ट के आधार पर नये सिरे से याची को प्रशिक्षण पर भेजने को लेकर निर्णय ले।

पांच दिन पहले बहन की मौत, अब इस हाल में मिला भाई का शव

यह भी पढ़े

Web Title-Even if acquitted of criminal case would not get jobs in Force
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: high court, criminal case, allahabad high court, not get jobs in force, criminal case would not get jobs in force, would not get jobs in force, force, job, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, allahabad news, allahabad news in hindi, real time allahabad city news, real time news, allahabad news khas khabar, allahabad news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved