• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

गांधीवादी अनुपम मिश्र का अंतिम संस्कार

नई दिल्ली। प्रख्यात पर्यावरणविद् गांधीवादी विचारक अनुपम मिश्र का सोमवार दोपहर यहां निगम बोध घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनका सोमवार तड़के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया था। वह 68 वर्ष के थे। अनुपम मिश्र के शव को पूर्वाह्न 11 बजे गांधी शांति फाउंडेशन लाया गया, जहां से उनकी शवयात्रा शुरू हुई और निगम बोध घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया।

उनकी अंतिम यात्रा में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता डीपी त्रिपाठी, स्वराज अभियान के अध्यक्ष योगेंद्र यादव, दिल्ली सरकार के मंत्री कपिल मिश्रा, मध्य प्रदेश सरकार के प्रतिनिधि, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय माकन, वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार सहित 300-400 लोग मौजूद थे।

अनुपम मिश्र का अपना कोई घर नहीं था। वह गांधी शांति फाउंडेशन के परिसर में ही रहते थे। उनके पिता भवानी प्रसाद मिश्र प्रख्यात कवि थे।

अनुपम मिश्र के परिवार के एक करीबी सूत्र ने बताया कि मिश्र पिछले सालभर से कैंसर से पीडि़त थे। मिश्र के परिवार में उनकी पत्नी, एक बेटा, बड़े भाई और दो बहनें हैं। मिश्र गांधी शांति प्रतिष्ठान के ट्रस्टी एवं राष्ट्रीय गांधी स्मारक निधि के उपाध्यक्ष थे।

मिश्र को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय पर्यावरण पुरस्कार, जमना लाल बजाज पुरस्कार सहित कई पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है। जल संरक्षण पर लिखी गई उनकी किताब आज भी खरे हैं तालाब काफी चर्चित हुई और देशी-विदेशी कई भाषाओं में उसका अनुवाद हुआ। पुस्तक की लाखों प्रतियां बिक चुकी है।



[@ नए नोटों के बारे में जानें अहम बातें, नोटबंदी से आपकी चिंता हो जायेगी दूर]

यह भी पढ़े

Web Title-Environmentalist Anupam Mishra passes away at 68
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: environmentalist anupam mishra, anupam mishra passes away, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved