• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

2000 के नोट लाना एक पहेली:चिदंबरम

cost of bringing new currency notes is 15-20 thousand crores: chidambaram - Delhi News in Hindi

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने 500 और 1000 के नए नोटों को प्रचलन से बाहर करने के नरेंद्र मोदी सरकार के फैसले पर सवाल उठाया है। चिदंबरम ने कहा कि नए नोट लाने पर 15 से 20 हजार करोड रूपये का खर्च आने का अनुमान है।

चिदंबरम ने कहा,अगर इससे काले धन पर लगाम लगती है तो सरकार के कदम का हम स्वागत करते हैं लेकिन देखना ये है कि सरकार इसे कैसे लागू करती है और 500 और 1000 के नोट बंद कर 2000 के नोट को लाना एक पहेली है। उन्होंने कहा, इससे पहले वर्ष 1978 में भी मोरारजी देसाई की जनता पार्टी सरकार के समय 1000 का नोट वापस लेने का फैसला किया गया था जो कि नाकाम रहा था।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश के नाम संबोधन में काले धन पर प्रभावी अंकुश लगाने के कदम के तहत 500 और 1000 के पुराने नोटों को चलन से बाहर करने की घोषणा की थी। पीएम ने कहा था कि भ्रष्टाचार, कालाधन, जाली नोट, आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लडाई होनी चाहिए. कौन ऎसा नागरिक है जो भ्रष्टाचार को स्वीकार कर सकेगा और जिसे भ्रष्टाचार के कारण तकलीफ नहीं होगी।

यह भी पढ़े :नौ करोड़ का युवराज बना ’आकर्षण का केद्र’

यह भी पढ़े :बड़े उलटफेर में हिलेरी को पछाड व्हाइट हाउस पहुंचे डोनाल्ड ट्रंप

यह भी पढ़े

Web Title-cost of bringing new currency notes is 15-20 thousand crores: chidambaram
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: cost, new currency notes, chidambaram, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved