• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
2 of 3

क्या होता है पितृदोष व मातृदोष

थोडा विस्तार में जाएं तो कुंडली में लग्न, द्वितीय, चतुर्थ, पंचम और दशम भाव में सूर्य ग्रह शनि व राहू के साथ हो तो पितृ दोष माना जाता है। हालांकि कुछ विद्वान सूर्य-केतु के संयोग को भी पितृ दोष की संज्ञा देते हैं।

इसके साथ ही सूर्य नीच का हो, शत्रु क्षेत्र में हो या उससे दृष्ट हो तो भी पितृ दोष बताया जाता है। ज्योतिष में पितृ दोष पर अत्यधिक जोर दिया जाता है। कारण, कुंडली में अकेला सूर्य दोषपूर्ण हो तो वह लाख दोषों के बराबर माना जाता है।

यह भी पढ़े

Web Title-Detail about Pitra Dosh and Matra Dosh
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: pitra dosh, matra dosh, pitra dosh and matra dosh, sun, family, economic, loan, marriage, positivity, negativity, astrology news in hindi, , punjab-chandigarh news in hindi, detail about pitra dosh and matra dosh
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

पंजाब से

जीवन मंत्र

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved