• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

म्यांमार में भाषण के दौरान पोप ने नहीं किया रोहिंग्या का उल्लेख

Pope Francis fails to mention Rohingya in Myanmar speech - World News in Hindi

यंगून। सर्वोच्च कैथलिक धर्म गुरु पोप फ्रांसिस ने मंगलवार को म्यांमार में स्टेट काउंसिलर आंग सान सू की से मुलाकात के बाद एक महत्वपूर्ण भाषण दिया, जिसमें उन्होंने ‘सभी जातीय समूहों से एक-दूसरे का सम्मान करने’ की बात कही लेकिन भाषण में एक बार भी रोहिंग्या मुस्लिम अल्पसंख्यकों का नाम नहीं लिया। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, सू की के साथ खड़े पोप ने अधिकतर चीजों के बारे में आम राय ही व्यक्त की। पोप ने हालांकि रोहिंग्या के बारे में सीधे उल्लेख नहीं किया लेकिन उन्होंने अपने भाषण में जातीय अधिकार के पक्ष को मजबूती से पेश किया। उन्होंने कहा, ‘‘म्यांमार का भविष्य निश्चय ही शांतिपूर्ण होना चाहिए, जिसमें समाज के सभी सदस्यों के अधिकार व प्रतिष्ठा का सम्मान, सभी जातीय समूह व उसकी पहचान का सम्मान, कानून का सम्मान व प्रजातांत्रिक तरीकों का सम्मान होना चाहिए जिसमें सभी व्यक्तियों और प्रत्येक समूहों को आम चीजों के लिए कानूनी भागीदारी मिलना चाहिए।’’

पोप ने कहा कि म्यांमार की सबसे बड़ी संपत्ति इसके लोग हैं और वे नागरिक विवाद और शत्रुता की वजह से बड़े तादाद में लगातार उत्पीडि़त हो रहे हैं और यह काफी लंबे समय से चल रहा है जिससे समाज में गहरा अंतर पैदा हो गया है। उन्होंने कहा, ‘‘बतौर एक देश, अब शांति के लिए काम करें, लोगों के घावों को समाप्त करना राजनीतिक व धार्मिक स्तर पर प्राथमिकता होना चाहिए।’’उन्होंने कहा, ‘‘धार्मिक अंतरों को अलगाव और अविश्वास के स्रोत के रूप में नहीं पनपने देना चाहिए बल्कि एकता, माफी, सहिष्णुता और देश निर्माण के लिए इसका प्रयोग करना चाहिए।’’सू की ने भी अपने भाषण में रोहिंग्या मुस्लिमों का नाम नहीं लिया। हालांकि उन्होंने स्वीकार किया कि रखाइन प्रांत में स्थिति ने ‘दुनिया का ध्यान अपनी ओर बहुत ज्यादा खींचा है।’

उन्होंने कहा, ‘‘रखाइन प्रांत में विभिन्न समुदायों के बीच समाजिक, आर्थिक और राजनीतिक स्थिति ने विश्वास, समझ, सौहार्द, सहयोग को कम किया है। ’’अंतर्राष्ट्रीय संगठन रोहिंग्या मुस्लिमों पर उत्पीडऩ के बाद सू की की काफी आलोचना करते रहे हैं। ऑक्सफोर्ड ने सोमवार को सू की से अधिकारिक रूप से ‘फ्रीडम ऑफ द सिटी’ सम्मान वापस ले लिया और कहा कि ‘जो ङ्क्षहसा को लेकर आंखे मूंदे रहते हैं उन्हें हम यह सम्मान नहीं दे सकते’।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Pope Francis fails to mention Rohingya in Myanmar speech
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: pope francis, rohingya, myanmar speech\r\n, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2021 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved