• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

पाकिस्तान को भारत से रिश्ते सुधारने से रोकेगी नहीं फौज : पूर्व ISI प्रमुख

नई दिल्ली। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई ) के पूर्व प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल असद दुर्रानी का कहना है कि पाकिस्तानी फौज और यहां की खुफिया एजेंसी इस्लामाबाद को भारत के साथ संबंध सुधारने से कभी नहीं रोकेगी। वह कहते हैं कि बशर्ते संबंधों में सुधार अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के सिद्धांतों पर आधारित होना चाहिए। दुर्रानी आजकल अपनी नई किताब ‘द स्पाइ क्रॉनिकल्स : रॉ आईएसआई एंड द इल्युजन ऑफ पीस’ को लेकर चर्चा में हैं, जिसे उन्होंने भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के पूर्व प्रमुख ए.एस. दुलत के साथ संयुक्त रूप से लिखा है।

दुर्रानी ने आईएएनएस को ईमेल साक्षात्कार में बताया, ‘‘आम धारणाओं (पेचीदी विदेश नीतियों में पाकिस्तान की सरकारें सेना के अधीन रही हैं) में गंभीर कमियां रही हैं। किसी ने भी भारत के साथ संबंधों में सुधार के लिए पाकिस्तान सरकार को नहीं रोका है। बशर्ते की दोनों देशों के बीच संबंधों में सुधार अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के सिद्धांतों के अनुरूप हो। अन्यथा, परवेज मुशर्रफ जैसे सैन्य शासक की तरह प्रयास असफल ही होंगे।’’

आईएसआई के पूर्व प्रमुख को उनकी किताब ‘द स्पाइ क्रॉनिकल्स : रॉ आईएसआई एंड द इल्युजन ऑफ पीस’ के विमोचन के लिए भारत ने वीजा देने से इनकार कर दिया गया था। इस किताब को 23 मई को नई दिल्ली में भारत के उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने संयुक्त रूप से विमोचित किया था।

इस किताब के चर्चा में आने के बाद पाकिस्तानी सेना ने दुर्रानी को तलब किया था और इस किताब में उनके द्वारा लिखी गई बातों पर उनकी स्थिति स्पष्ट करने को कहा गया था। किताब में कश्मीर, हाफिज सईद, 26/11 मुंबई हमला, कुलभूषण जाधव, सर्जिकल स्ट्राइक, ओसामा बिन लादेन को लेकर समझौता, भारत-पाकिस्तान संबंधों में अमेरिका और रूस की भूमिका और भारत और पाकिस्तान के बीच शांतिपूर्ण वार्ता के आतंकवाद से खंडित होने को लेकर दुर्रानी ने अपना पक्ष और आकलन पेश किया है।

नई दिल्ली में किताब के विमोचन में दुर्रानी के प्री-रिकॉर्डिड वीडियो में उन्होंने वीजा नहीं मिलने के लिए भारत के ‘डीप स्टेट’ यानी भारत की आंतरिक शक्तियों के प्रभाव को जिम्मेदार ठहराया था। इसके बारे में पूछने पर दुर्रानी कहते हैं, ‘‘हर देश की अपनी आतंरिक शक्तियों के प्रभाव होते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारत और अमेरिका जैसे देशों में इन आंतरिक शक्तियों के प्रभाव सर्वाधिक होते हैं।’’

भारत और पाकिस्तान के बीच मौजूदा सीमा तनाव की वजह से वार्ता स्थगित होने और सभी तरह के खेल एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों के थमने के बारे में पूछने पर वह कहते हैं कि दोनों परमाणु संपन्न देशों के बीच कुछ भी चिरस्थायी नहीं है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Pakistan Army won not stop Islamabad from improving ties with India: Former ISI chief
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: pakistan army, pakistan, army, islamabad, ndia, former isi chief, isi, lt gen asad durrani, asad durrani, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved