• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

लीथियम आयन बैटरी के विकास में अहम भूमिका निभाने पर इन्हें मिला नोबल पुरस्कार

स्टॉकहोम। बुधवार को रसायन के क्षेत्र में 2019 का नोबल पुरस्कार घोषित किया गया। इसके लिए अमेरिका के जॉन वी. गुडइनफ, ब्रिटेन के स्टैनली विटिंघम और जापान के अकीरा योशिनो को चुना गया। इन तीनों ने लीथियम आयन बैटरी के विकास में अहम भूमिका निभाई है। इनके प्रयास से बैटरी की क्षमता दोगुनी हुई।

बेहद उपयोगी होने से यह मोबाइल, लैपटॉप और इलेक्ट्रॉनिक वाहनों में इस्तेमाल हो रही है। 97 साल के गुडइनफ यह पुरस्कार जीतने वाले सबसे अधिक आयु के इंसान हैं। पहले यह रिकॉर्ड 96 वर्षीय आर्थर अश्किन के नाम था, जिन्हें पिछले साल यह पुरस्कार मिला था।

जूरी ने तीनों विजेताओं को बधाई देते हुए कहा कि लीथियम आयन बैटरी पोर्टेबल डिवाइस के इतिहास में क्रांतिकारी बदलाव लाई है। यह अगली पीढ़ी के इलेक्ट्रॉनिक वाहनों के विकास में अहम भूमिका निभाएगी। आपको बता दें कि 1901 से लेकर 2018 तक रसायन में 181 वैज्ञानिकों को पुरस्कार दिए गए।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Nobel Prize in Chemistry has been awarded to John B. Goodenough, M. Stanley Whittingham and Akira Yoshino
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: nobel prize, chemistry, john b goodenough, m stanley whittingham, akira yoshino, lithium-ion batteries, alfred nobel, engineer, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved