• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

मोदी के रूस दौरे से संबंधों को बढ़ावा मिलने की उम्मीद

Modi visit to Russia is expected to boost relations - World News in Hindi

व्लादिवोस्तोक (रूस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रूस यात्रा से, मुख्य रूप से वार्षिक ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम (ईईएफ) में भाग लेने के लिए, भारत और रूस के बीच समग्र द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा मिलने के अलावा, व्यापार सहयोग में भी वृद्धि होने की उम्मीद है।

मोदी 5वें ईईएफ में मुख्य अतिथि होंगे। उनके रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ एक द्विपक्षीय बैठक करने की उम्मीद है, जिसमें रक्षा, ऊर्जा, बुनियादी ढांचे और विभिन्न क्षेत्रों में द्विपक्षीय व्यापार और निवेश और अन्य क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देने पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। दोनों नेताओं के बीच विचार-विमर्श के दौरान दक्षिण एशिया में पाकिस्तान द्वारा युद्ध को उकसावा देने के संदर्भ में बात होने की भी संभावना है।

मोदी और पुतिन के भारत और यूरेशियन इकोनॉमिक यूनियन (ईएईयू) के बीच एक मुक्त व्यापार क्षेत्र स्थापित करने के प्रस्ताव पर चर्चा करने की उम्मीद है, पांच देशों के इस समूह में रूस, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, आर्मेनिया और बेलारूस सदस्य हैं। इस समूह का गठन 2015 में सदस्य राज्यों की अर्थव्यवस्थाओं के स्थिर विकास के लिए किया गया था। इस प्रस्ताव पर वार्ता संपन्न हो चुकी है, जिसमें भारत और यूरेशिया क्षेत्र के बीच आर्थिक संबंधों को गति प्रदान करने की उम्मीद है।

मोदी और पुतिन आखिरी बार जून में किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन के मौके पर मिले थे और सहयोग के नए क्षेत्रों की खोज करने की आवश्यकता पर सहमत हुए थे।

रक्षा क्षेत्र में, दोनों देशों के संबंध पहले से ही क्रेता-विक्रेता से परिवर्तित होकर सहभागी के रूप में दिख रहे हैं। भारत में एके-203 राइफल के निर्माण के लिए एक फैक्ट्री की स्थापना इसी का एक हिस्सा है।

ईएपएफ का आयोजन रूसी सुदूर पूर्व की अर्थव्यवस्था के त्वरित विकास और एशिया-प्रशांत क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के विस्तार के उद्देश्य से हर वर्ष किया जाता है। इस साल के आयोजन में आईएएनएस मीडिया पार्टनर होगा।

ईईएफ के दौरान, 'रूस-भारत' वार्ता को फोरम के व्यावसायिक कार्यक्रम के हिस्से के रूप में योजनाबद्ध किया गया है, जिसमें दोनों देशों के प्रतिनिधि भाग लेंगे। इसके अलावा, देश की आर्थिक, औद्योगिक, पर्यटन और सांस्कृतिक क्षमता को पेश करने के लिए ईईएफ मंच पर भारत का एक राष्ट्रीय रुख होगा।

प्रधानमंत्री की यात्रा से पहले, विदेश मंत्री एस. जयशंकर, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने महत्वपूर्ण दौरे की सफलता से संबंधित तैयारियों के मद्देनजर रूस की यात्रा की।

गोयल ने एक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया, जिसमें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत और 130 से अधिक कंपनियों के प्रतिनिधि शामिल थे।

प्रतिनिधिमंडल ने रूसी समकक्ष के साथ विचार-विमर्श किया, जिसकी अध्यक्षता उप प्रधानमंत्री और सुदूर पूर्व के लिए राष्ट्रपति के दूत यूरी ट्रुटनेव और आर्कटिक के विकास मंत्री अलेक्जेंडर कोजलोव ने की जिनमें सुदूर पूर्वी क्षेत्रों के प्रमुख, संघीय कार्यकारी अधिकारियों के प्रतिनिधि और 120 से अधिक कंपनियों ने भाग लिया था।

ट्रुटनेव ने इन वार्ताओं के बाद कहा था, "मुझे यकीन है कि हमारे देशों के नेताओं के बीच संपर्क समग्र निवेश के माहौल में सुधार करेंगे और व्यापारियों को आश्वस्त करेंगे कि निवेश सुरक्षित है।"

दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडलों के बीच चर्चा के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि बिजली, कृषि, लकड़ी, बुनियादी ढांचे, हाई-टेक और आईटी क्षेत्रों में सहयोग में रुचि देखने को मिली है।

उन्होंने कहा कि "प्रतिनिधिमंडल की यात्रा (सेंट्रल) सरकारी और क्षेत्रीय स्तरों पर सुदूर पूर्व में भारत की निरंतर रुचि की सूचक है। हम व्यापार और निवेश सहयोग के विकास को प्रमुख महत्व देते हैं। हमारे पास द्विपक्षीय व्यापार कारोबार में 30 अरब डॉलर तक पहुंचने का साझा लक्ष्य है। हम रूस में भारत के निवेश को बढ़ाने की भी योजना बना रहे हैं।"

व्यापार मिशन की यात्रा में विषयगत सत्र शामिल थे, जहां प्रतिभागियों ने बिजली, खनन उद्योग, चिकित्सा, वानिकी, कृषि, शिक्षा और रियल एस्टेट जैसे क्षेत्रों में सहयोग की संभावनाओं पर चर्चा की।

प्लेनरी सेशन का समापन सुदूर पूर्वी क्षेत्रों के प्रमुखों और भारतीय राज्यों के प्रमुखों द्वारा मशीन-निर्माण, तेल और गैस, कृषि, हीरा उद्योग और पर्यटन जैसे क्षेत्रों में समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर के साथ हुआ। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Modi visit to Russia is expected to boost relations
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: pm modi, russia, relations, narendra modi, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved