• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

Article 370 : महिला अधिकार के मुद्दे को ‘हथियार’ बना कर पाकिस्तान को भारत की खरी-खरी

india slams pak for weaponising womens rights issues at unga - World News in Hindi

संयुक्त राष्ट्र। कश्मीर में धारा 370 हटने के बाद पाकिस्तान को बार-बार मुंह की खानी पड रही है। भारत ने एक बार फिर से पाकिस्तान को जमकर लताड लगाई है। जम्मू-कश्मीर में अपने सियासी फायदों के लिए महिला अधिकार मुद्दे को ‘हथियार’ की तरह इस्तेमाल करने को लेकर भारत ने पाकिस्तान को फटकार लगाते हुए कहा कि यह विडंबना ही है कि वह देश इस बारे में भारत को लेकर ‘बेबुनियाद’ बातें कर रहा है, जहां महिला के जीवन जीने के अधिकार का झूठी ‘इज्जत’ के नाम पर उल्लंघन होता है। महिला को इस स्थिति में लाने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई भी नहीं होती हो।

प्रेरणा बन रही हैं भारतीय महिलाएं...
संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन में प्रथम सचिव पालौमी त्रिपाठी ने सोमवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा के ‘एडवांसमेंट ऑफ वीमन’ विषय पर तीसरे समिति सत्र में कहा कि महासभा की पहली महिला अध्यक्ष विजय लक्ष्मी पंडित से लेकर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की महिला वैज्ञानिकों तक भारतीय महिलाएं बहुत लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत बनी हुई हैं।

पाक नाम लिए बगैर लगाई फटकार...
संयुक्त राष्ट्र महासभा की छह समितियों में से एक यह समिति सामाजिक, मानवीय मामले तथा मानवाधिकार मुद्दों को देखती है। त्रिपाठी ने सीधे-सीधे पाकिस्तान का नाम नहीं लिया, लेकिन वह संयुक्त राष्ट्र में इस्लामाबाद की निवर्तमान राजनयिक मलीहा लोधी द्वारा जम्मू-कश्मीर को लेकर की गई बातों का जवाब दे रहीं थी। लोधी ने समिति में अपने संबोधन में कहा था कि जम्मू-कश्मीर में संचार ठप होने की वजह से राज्य की महिलाओं को दिक्कत आ रही हैं। लोधी ने न्यूयार्क टाइम्स के पहले पन्ने पर आलेख के साथ छपी उस कश्मीरी महिला की तस्वीर का जिक्र किया जिसके बारे में लिखा गया था कि उस महिला के बेटे को सांप ने काट लिया था लेकिन उसे वक्त पर चिकित्सा सहायता नहीं मिल सकी और उसकी मौत हो गई।

पाकिस्तान का नाम लिए बिना यूं सुनाई खरी-खोटी...
पाकिस्तान का नाम लिए बगैर त्रिपाठी ने कहा कि दूसरे की जमीन पर लालची नजर डालने वाला देश झूठी चिंताओं की आड़ में अपने नापाक इरादों को छिपाता है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को अब भी याद है कि उस देश के सैन्य बलों ने 1971 में भारत के निकट पड़ोसी के यहां महिलाओं के खिलाफ भयावह यौन हिंसा को अंजाम दिया था। त्रिपाठी ने कहा कि इस तरह के गंभीर उल्लंघन के मामले आज भी सामने आते हैं। उन्होंने महिला सशक्तिकरण और समानता सुनिश्चित करने की दिशा में भारत सरकार के कई प्रयासों को रेखांकित किया।

भारत के विकास में महिलाओं का साथ...
उन्होंने कहा कि महिलाओं की तरक्की और सशक्तिकरण भारत की विकास यात्रा का अभिन्न हिस्सा है। जरूरी फैसलों को लेते समय नई दिल्ली में महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित की जाती है। करीब 1.3 मिलियन महिला वोटरों द्वारा चुने गए प्रतिनिधि देश के विकास में अपना सहयोग देते हैं। देश में 197 मिलियन महिलाओं के बैंक खाते खोलकर उन्हें आर्थिक तरक्की की यात्रा में साथ लिया गया है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-india slams pak for weaponising womens rights issues at unga
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: india slams pak, weaponising womens rights issues at unga, world news, world news in hindi, article 370, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved