• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

यहां एक दशक बाद चारों कृष्ण स्वरूपों का हुआ अलौकिक मिलन

राजसमंद। पृष्टिमार्गीय की तृतीय पीठ कांकरोली स्थित प्रभु श्रीद्वारिकाधीश के संग जिला मुख्यालय पर रविवार को आयोजित हुए फागोत्सव में एक दशक बाद होली खेलने के लिए प्रभु लाडीलेश, प्रभु मदनमोहन, सूरत, गुजरात से शाम पौने चार बजे विट्ठल विलास बाग पहुंचे। यहां तृतीय गृहाधीश गोस्वामी पराग कुमार के नेतृत्व में दोनों प्रभु की अगवानी की गई। इसके बाद प्रभु लाडीलेश एवं प्रभु मदनमोहन को विट्ठल विलास बाग के गर्भगृह में विराजित किया गया। जहां गोस्वामी परिवार ने सामूहिक रूप से आरती उतारी। बाद में दोनों प्रभु के सम्मुख भोग धराया गया।

लगभग एक घंटे के विश्राम के बाद विट्ठल विलास बाग से शोभायात्रा रवाना हुई जो शहर के मुख्य मार्ग द्वारकेश चौराहा, जेके मोड़, मैन चौपाटी, सुखपाल छतरी पहुंची। वहां ठाकुरजी के अल्प विश्राम के बाद सवारी पुन: शुरू हुई। जो नया बाजार, मालनिया चौक, सर्राफा बाजार, रेती मोहल्ला, मंदिर मार्ग होते हुए प्रभुश्री द्वारकाधीश मंदिर के गोवर्धन चौक में पहुंची। वहां श्रीधाम गिरिराज मथुरा से आए आठ सदस्यीय रसियागान के दल ने चंग-ढोलक-मजीरा की थाप पर रसिया गान व कीर्तन से मेवाड़ और ब्रज भूमि की सांस्कृतिक सुगंध से वातावरण सराबोर कर दिया। तृतीय पीठाधीश ब्रजेशकुमार महाराज का स्वास्थ्य सही नहीं होने के कारण वे फाग की सवारी में शामिल नहीं होंगे। उनके डोलोत्सव तक आने की संभावना है।

धूमधाम से निकली फाग सवारी

इस दौरान विट्ठल विलास बाग में उपस्थित श्रद्धालुओं ने रसिया गान का नाचते- गाते हुए गुलाल भरे माहौल में भरपूरआनंद उठाया। इससे पूर्व सवारी में दोनों प्रभु लाडीलेश एवं प्रभु मदनमोहन ठाकुरजी को एक साथ सुखपाल में विराजित कर नगाड़ा, निशान, छत्र, छांगा, ध्वजा पताकाएं, बैंड-बाजों के साथ मथुरा के रसिया गायक महिला-पुरुष सहित नगरवासी रसिया गान करते नाचते-गाते गुलाल अबीर उड़ातेचल रहे थे। वहीं प्रभु द्वारिकाधीश की दूसरी छवि को खुले सुखपाल में विराजित किया। प्रभु को गोस्वामी नैमिष कुमार, संजीव कुमार महाराज ने अबीर गुलाल से होली खिलाते हुए नगर की परिक्रमा करवाई। वहीं मंदिर में ठाकुरजी के दर्शनों के लिए पहुंचे श्रद्धालुओं को प्रभु श्रीकृष्ण के चारों स्वरूपों के अलौकिक दर्शन करने का अवसर प्राप्त हुआ।

250 साल बाद हुआ ऐसा आयोजन



[ गजब का टैलेंट, पैरों से पत्थर तराश बना देते हैं मूर्तियां]

[ अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे]

यह भी पढ़े

Web Title-one decade after met the supernatural union of Krishna formats
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: one, decade, after, met, supernatural, union, krishna, formats, fagotsav, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, rajsamand news, rajsamand news in hindi, real time rajsamand city news, real time news, rajsamand news khas khabar, rajsamand news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved