• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

मोदी का राष्ट्रीय स्टार्टअप दिवस भारतीय उद्यमियों के लिए एक नई शुरूआत

Modi National Startup Day a new start for Indian entrepreneurs - India News in Hindi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 जनवरी को राष्ट्रीय स्टार्टअप दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की है। बीते कुछ वर्षो में भारतीय स्टार्टअप ने जबरदस्त वृद्धि हासिल की है। इनमें से कुछ कंपनियों ने विश्व स्तर पर सुर्खियां भी बटोरी हैं।



ताजा आंकड़ों से पता चलता है कि भारत में अकेले 2021 में 46 यूनिकॉर्न (1 अरब डॉलर से अधिक वैल्यूएशन वाली कंपनियां) कंपनियां सामने आई हैं, जिसने 2021 में 42 अरब डॉलर जुटाए हैं।

ओरियोस वेंचर पार्टनर्स की एक नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार, देश में अब 90 यूनिकॉर्न हैं - शेयरचैट से क्रेड तक और मीशो से अपग्रेड तक - सभी स्पेक्ट्रम में नए लोग पहले से कहीं ज्यादा तेजी से प्रतिष्ठित यूनिकॉर्न क्लब में शामिल हो रहे हैं।

हुरुन रिसर्च इंस्टीट्यूट के अनुसार, भारत 2021 में अमेरिका और चीन के बाद दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप इकोसिस्टम के रूप में उभरा है।

भारत के यूनिकॉर्न वर्तमान में 170 अरब डॉलर से अधिक मूल्य के हैं, और यह बढ़ रहे हैं।

मोदी ने कहा कि छोटे व्यवसायों की तरह, जो भारत की अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं, स्टार्टअप गेम चेंजर बन रहे हैं।

ऑटोमेशन और रोबोटिक्स फर्म एडवर्ब के सह-संस्थापक सतीश शुक्ला के अनुसार, भारतीय स्टार्टअप इकोसिस्टम तंत्र बहुत लंबा सफर तय कर चुका है और बहुत परिपक्व हो गया है।

शुक्ल ने आईएएनएस को बताया, "हम भारतीय स्टार्टअप के लिए सुलभ वीसी/पीई फंडों के बीच स्टार्टअप्स को भारतीय बाजारों में सूचीबद्ध होते हुए देख सकते हैं। कई प्रतिभाशाली लोग अपने दम पर शुरू करने या स्टार्टअप्स के साथ काम करने के लिए भारत वापस आ रहे हैं, जिससे ब्रेन-ड्रेन प्रक्रिया को उलट दिया है।"

2016 में 'स्टार्टअप इंडिया' की शुरूआत से ही सरकार ने कई कदम उठाए हैं जैसे भुगतान के डिजिटल तरीके पर जोर देना, पात्र स्टार्टअप के लिए 3 साल की अवधि के लिए लाभ पर 100 प्रतिशत कर छूट, मानदंडों की छूट पीएसयू के लिए स्टार्टअप्स द्वारा खरीद को बढ़ावा देना और पीएसयू को प्रासंगिक स्टार्टअप्स को फंड और पोषण करने के लिए प्रोत्साहित करना।

शुक्ला ने जोर देकर कहा, "इसने लोगों के लिए अच्छी गुणवत्ता वाली नौकरियां पैदा की हैं और बहुत से युवा लोगों को भी आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया है। भारत के लिए अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है और हमें निकट भविष्य में न केवल यूनिकॉर्न बल्कि डेकाकॉर्न की आवश्यकता है जो 21वीं सदी के भारत की समस्याएं हल करेंगे।"

भारत ने अब तक चार 'डेकाकॉर्न' ( 10 अरब और उससे अधिक के मूल्यांकन वाली कंपनियां) देखी हैं, जिसमें फ्लिपकार्ट, पेटीएम, बायजू और ओयो शामिल हैं।

केआर के सेकर, पार्टनर, डेलॉइट इंडिया के अनुसार, भारत के लिए मांग और ग्राहक आधार बहुत बड़ा है और एक बेहतर नेटवर्क और बेहतर दूरसंचार नीति स्टार्टअप्स के विकास का मार्ग प्रशस्त करेगी।

जोरदार चर्चा के बीच, बहुत कम भारतीय यूनिकॉर्न ने राजस्व में 100 मिलियन राजस्व को छुआ है और इन कंपनियों पर प्रदर्शन करने के लिए अत्यधिक दबाव होगा।

डॉक्टर से उद्यमी बने रितेश मलिक, निवेशक, कहानीकार रितेश मलिक ने कहा, "मेरी राय में, 2030 तक, निफ्टी 50 में से 40 प्रतिशत युवा गतिशील प्रौद्योगिकी स्टार्टअप होंगे, जो पारंपरिक कंपनियों को विस्थापित करेंगे।"

उन्होंने आईएएनएस से कहा, "भारत को दुनिया के सबसे गतिशील और समावेशी स्टार्टअप इकोसिस्टम के रूप में बनाने पर मोदी का ध्यान प्रशंसनीय है। नौकरी देने वाले बनाम नौकरी तलाशने वालों पर उनका लगातार ध्यान हमारे देश के लिए समय की जरूरत है।"

फिनटेक स्टार्टअप खाताबुक के सीईओ और सह-संस्थापक रवीश नरेश ने कहा कि सरकार की नई पहल भारत के पहले उत्पादों के साथ वैश्विक बाजारों में स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के योगदान की एक उत्कृष्ट स्वीकृति है।

नरेश ने आईएएनएस को बताया, "भारत के स्टार्टअप बड़े निवेश को आकर्षित कर रहे हैं क्योंकि वे नए जमाने के नवाचारों के ब्रीडिंग ग्राउंड हैं, जो उभरते बाजारों में लोगों को सही डिजिटल समाधानों के साथ सशक्त बनाने पर केंद्रित हैं, जिससे लाखों लोगों का जीवन प्रभावित होता है।"

वर्तमान में, भारत में लगभग 60,000 स्टार्टअप के साथ दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप इकोसिस्टम है।

अपग्रेड के सह-संस्थापक और एमडी मयंक कुमार ने आईएएनएस को बताया, "हालांकि भारत पहले से ही एक प्रतिभा शक्ति केंद्र है, लेकिन यह कदम लाखों लोगों को व्यापार और सामाजिक चुनौतियों का समाधान खोजने के लिए प्रोत्साहित करेगा, जिससे देश ग्लोबल लीडर बन जाएगा।" (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Modi National Startup Day a new start for Indian entrepreneurs
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: pm modi, narendra modi, national startup day, pm modi national startup day a new start for indian entrepreneurs, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved