• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

भारतीय रेलवे इन ट्रेनों से हटाएगा एसी-2 के कोच!

Indian Railways may replace AC II tier with AC III tier in Rajdhanis, Durontos in some sectors - India News in Hindi

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे आगामी दिनों में ट्रेनों में बडा बदलाव करने की तैयारी में है। रेलवे जल्द ही राजधानी और दुरंतो जैसी प्रीमियम ट्रेनों में एसी-टू को हटाने की तैयारी में है। यानी ट्रेनों में अब एसी-2 टियर क्लास को एसी-थ्री टियर क्लास से बदल सकती है। इसके तहत इस साल 1000 नए एस-3 कोच के निर्माण के आदेश दिए गए है। सरकार इस बदलाव के जरिए न सिर्फ एसी-थ्री टियर क्लास में बढ रही भीड को कम करना चाहती है, बल्कि लोगों को किराए के मोर्चे पर भी राहत इससे मिलेगी। ऐसा बताया जा रहा है कि रेल यात्रियों द्वारा होने वाली आलोचना को देखते हुए रेलवे बोर्ड एसी-3 कोच बढाने सहित कई उपाय लागू कर रहा है।
इसमें फ्लेक्सी किराए के फार्मूले में भी मामूली बदलाव हो सकता है, जिससे फ्लेक्सी से होने वाली आय में कमी नहीं आए। रेलवे बोर्ड के इस फैसले से 50 राजधानी ट्रेनों में एसी-3 की लगभग 14,400 अतिरिक्त बर्थ का इंतजाम हो जाएगा। इसका फायदा रेल यात्रियों को होगा। वहीं ऐसा भी माना जा रहा है कि रेलवे की प्रीमयिम ट्रेनों को एयरलाइंस से कडी टक्कर मिल रही है। जहां राजधानी समेत अन्य प्रीमियम ट्रेनों में एसी-टू टियर क्लास के टिकट का किराया करीब 5000 रुपए तक पहुंच जाता है।
वहीं, कई एयरलाइन कुछ रूट पर तकरीबन 4 हजार रुपए तक में टिकट दे रही हैं। वहीं इसका एक और कारण यहा भी माना जा रहा है कि ज्यादातर समय पर एसी-थ्री टियर क्लास में बुकिंग ज्यादा हो जाती है। इससे भीड बढ जाती है, लेकिन एसी-टू टियर क्लास में ऐसा नहीं हो पाता है। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक इन दोनों चुनौतियों को देखते हुए भारतीय रेलवे कुछ प्रीमियम ट्रेनों में एसी-2 को एसी-3 से बदल सकती है।
इससे न सिर्फ रेलवे एयरलाइन को टक्कर देने में सफल होना चाहती है, बल्कि इससे आम आदमी को भी कम पैसे खर्च करने पडेंगे। बता दें कि मौजूदा समय में राजधानी समेत कई प्रीमियम ट्रेनों में फ्लेक्सी फेयर सिस्टम लागू है। फ्लेक्सी फेयर फार्मूले के चलते राजधानी एसी-2 का किराया हवाई जहाज के बराबर पहुंच जाता है, जिससे यात्री विवश होकर ट्रेन के बजाए हवाई सफर कर रहे हैं। लेकिन एसी-3 का किराया उनके बजट में है। रेलवे को एसी-2 के बजाए एसी-3 से अधिक राजस्व प्राप्त होता है। इसलिए रेलवे बोर्ड ने सभी राजधानी ट्रेनों में एसी-2 को हटाकर एसी-3 कोच लगाने का फैसला किया है।
सामान्य भाषा में ‘फ्लेक्सी’ किराए का मतलब...
इस सिस्टम के तहत इन सभी ट्रेनों में उपलब्ध सीटों में से 10 फीसदी सीटों की बुकिंग मूल किराए पर होती है। यानी अगर किसी जगह का मूल किराया 100 रुपए है तो पहले 10 फीसदी टिकट 100 रुपए के बेस प्राइस पर बुक होंगे। 10 फीसदी सीटों की बुकिंग के बाद राजधानी और दुरंतों के अगले 10 फीसदी टिकट 110 रुपए के आधार पर बुक होंगे। इसके बाद अगले 20 फीसदी टिकट की बुकिंग के बाद अगले 10 फीसदी टिकट 120 रुपए पर बुक होगें। 30 फीसदी टिकट बुक होने के बाद अगले 10 फीसदी टिकट 130 रुपए पर बुक होंगे। इसी तरह 40 फीसदी टिकट बुक होने के बाद अगले 10 फीसदी टिकट की बुकिंग 140 रुपए के दर पर होगी।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Indian Railways may replace AC II tier with AC III tier in Rajdhanis, Durontos in some sectors
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: indian railways, replace ac ii tier, ac iii tier, rajdhanis, durontos in some sectors, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved