• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

कैबिनेट बैठक में हुए बड़े फैसले, गन्ना किसानों को छूट, 75 मेडिकल कॉलेज, कोल माइनिंग में FDI को मंजूरी

Government liberalises FDI norms, approves 75 new medical colleges - India News in Hindi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए। केंद्रीय कैबिनेट ने बुधवार को मेडिकल एजुकेशन के विस्तार, गन्ना किसानों के लिए एक्सपोर्ट सब्सिडी समेत कई फैसलों को मंजूरी दी। प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की हुई बैठक में 24,000 करोड़ रुपये खर्च से 75 नए मेडिकल कॉलेज खोले जाने को मंजूरी दी। ये मेडिकल कॉलेज अगले 3 साल में खोले जाएंगे और इसके लिए उन इलाकों को प्राथमिकता दी जाएगी जहां मेडिकल कॉलेज नहीं हैं। इसके अलावा गन्ना किसानों को एक्सपोर्ट सब्सिडी देने का फैसला लिया गया है जो सीधे किसानों के खाते में भेजी जाएगी।

गन्ना किसानों के लिए एक्सपोर्ट सब्सिडी का ऐलान...

कैबिनेट बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर और पीयूष गोयल ने मीटिंग में लिए गए फैसलों की जानकारी दी। जावडेकर ने बताया, 'गन्ना किसानों को 60 लाख मीट्रिक टन शक्कर निर्यात करने के लिए एक्सपोर्ट सब्सिडी देने का फैसला लिया गया है। 6,268 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी जाएगी। यह राशि सीधे किसान के खाते में जाएगी। इससे लाखों गन्ना किसान लाभान्वित होंगे। गन्ना किसानों को अब नुकसान नहीं होगा।' उन्होंने बताया कि देश में 162 लाख मीट्रिक टन शक्कर का सरप्लस स्टॉक है। इसमें से 40 लाख मीट्रिक टन बफर स्टॉक रखा गया है।

अगले 3 साल में 75 नए मेडिकल कॉलेज...
जावडेकर ने बताया, 'कैबिनेट मीटिंग में 24,000 करोड़ रुपये खर्च से 75 नए मेडिकल कॉलेज खोले जाने को मंजूरी दी गई। इससे 15,700 नई मेडिकल सीटें बनेंगी। जिन क्षेत्रों व जिलों में मेडिकल कॉलेज नहीं हैं, उन्हें प्राथमिकता दी जाएगी। पिछले 5 साल में मेडिकल पीजी और एमबीबीएस की 45 हजार सीटें बढ़ाई गई हैं। पिछले 5 साल में 82 मेडिकल कॉलेज मंजूर किए गए और अब अगले 3 साल में 75 नए मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे। दुनिया में मेडिकल एजुकेशन का ऐसा विस्तार कहीं नहीं हुआ है। ग्रामीण इलाकों में भी डॉक्टरों की उपलब्धता ज्यादा होगी।'

कोल माइनिंग, कॉन्ट्रैक्ट मैन्यूफैक्चरिंग में 100 फीसदी एफडीआई का फैसला...

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि कैबिनेट मीटिंग में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) से जुड़े नियमों और प्रावधानों के उदारीकरण के लिए भी कई फैसले लिए गए। उन्होंने कहा, '2014 से 2019 के बीच 286 अरब डॉलर का रेकॉर्ड एफडीआई भारत आया है। उसके पहले के 5 सालों में यह आंकड़ा 189 अरब डॉलर था। 2018-19 के अंतरिम आंकड़ों में 64 अरब डॉलर का एफडीआई आया। एफडीआई के उदारीकरण और लचीलेपन की दिशा में काम किया जा रहा है।'

गोयल ने कहा कि भारत को निवेश का आकर्षक केंद्र बनाने के लिए कैबिनेट मीटिंग में कुछ अहम फैसले लिए गए। कोल माइनिंग में 100 प्रतिशत एफडीआई को मंजूरी दी गई है। भारत को मैन्यूफैक्चरिंग हब के तौर पर बनाने का मौका है। उन्होंने कहा कि कॉन्ट्रैक्ट मैन्यूफैक्चरिंग में 100 प्रतिशत एफडीआई को मंजूरी दी गई है। इसके अलावा, उन्होंने बताया कि प्रिंट मीडिया की तरह ही अब डिजिटल मीडिया में भी 26 प्रतिशत एफडीआई को मंजूरी दी गई है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Government liberalises FDI norms, approves 75 new medical colleges
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: union minister prakash javadekar, modi cabinet, 75 new medical colleges, 15, 700 mbbs seats in the country, india news, government liberalises fdi norms, approves 75 new medical colleges, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved